ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
योगी आदित्यनाथ सरकार गरीब, मजदूर विरोधी : कांग्रेस
May 18, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 18 मई। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू एवं विधायक दल की नेता श्रीमती आराधना मिश्रा मोना ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करके योगी आदित्यनाथ सरकार को गरीब मजदूर विरोधी करार दिया है। कांग्रेस ने कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने 1000 बसें चलाने की अनुमति मांगीं थीं। मुख्यमंत्री कार्यालय को पत्र ले जाकर दिया गया कोई जबाब नहीं आया। हम आज योगी सरकार को 1000 बसों की सूची दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम लगातार सरकार को सकारात्मक सुझाव दे रहे हैं लेकिन भाजपा सरकार इस विपत्ति में भी बेसहारा लोगों की, जरूरतमंदों की समस्याओं को सुनने और उसके निराकरण करने में कोताही कर रही है।
         कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि इस वैश्विक महामारी में हम लगातार जनता की सेवा कर रहे हैं। पूरे प्रदेश में हमने 60 लाख से अधिक लोगों की राशन-खाना देकर मदद किये। 7 लाख से अधिक प्रदेश से बाहर फंसे बहन-भाइयों की मदद किया गया। प्रदेश के 22 जिलों में हम रसोईघर चला रहे हैं। बिना खाये-पिये आ रहे देश निर्माता मजदूर भाई-बहनों के लिए हाइवे पर 40 स्टॉल्स लगाकर के हम खाना, पानी, गुड़, चना और नाश्ता बांट रहे हैं।
        कांग्रेस विधायक दल की नेता श्रीमती आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि हम लगातार सरकार को सकारात्मक सुझाव दे रहे हैं। मदद करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन योगी सरकार इतनी असंवेदनशील है कि हमारे देश निर्माता मजदूर बहनों-भाइयों की आवाज को सुनना भी नहीं चाहती है। हमारी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने मजदूरों के लिए रेलवे भाड़ा अदा करने की बात की भाजपा सरकार ने वहां भी अपना गरीब विरोधी चेहरा दिखाया। हमारी राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने ज्यादा टेस्टिंग करने का सुझाव दिया तब थोड़ा सा टेस्टिंग बढ़ाई गई। जब महासचिव ने सबको राशन की गारंटी की बात उठाया तब जाकर सरकार जागी।
         प्रेस कॉन्फ्रेंस में नेताओं ने 1000 बसों की सूची मीडिया को दिखाते हुए कहा कि हम आज मुख्यमंत्री को को हम यह सूची सौंप देंगे और उनसे हम गुजारिश कर रहे हैं कि देश निमार्ण में लगे मजदूरों के साथ आनवीय व्यवहार अपनाएं। नेताओं ने कहा कि हमारे पास कई राज्यों में फंसे मजदूर भाई बहनों की लिस्ट है हम उसे भी सरकार को सौंपकर उन्हें लाने की गुजारिश करेंगे।