ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
उत्तर प्रदेश को विश्व का ग्लोबल सप्लाई चेन बनाने के लिए ठोस कार्य योजना तैयार कराई जा रही - सिद्धार्थ नाथ
July 29, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 29 जुलाई। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निवेश एवं निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश को विश्व का ग्लोबल सप्लाई चेन बनाने के लिए ठोस कार्य योजना तैयार कराई जा रही है। इसके लिए शीघ्र ही नई निर्यात पालिसी लाई जायेगी। इस नीति के दो पहलू होंगे। जिसका पहला चरण शार्ट टर्म होगा। इसके तहत टेक्सटाइल्स, गारमेंट, फुटवेयर, मशीनरी पार्ट, कारपेट, हैण्डलूम तथा हैण्डीक्राफ्ट आदि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा दिया जायेगा। इसी प्रकार दूसरी लांग टर्म पालिसी होगी, इसके माध्यम से इलेक्ट्रानिक्स, फूड प्रोसेसिंग, केमिकल्स आदि के निर्यात को प्रोत्साहित किया जायेगा।
     श्री सिंह ने यह जानकारी आज खादी भवन में ग्लोबल सप्लाई चेन बढ़ाने के संबंध में आयोजित बैठक में दी। इस बैठक में अपर मुख्य सचिव डा0 नवनीत सहगल, मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहकार वी0के0 राजू मौजूद थे। इनके अलावा प्राइस वाटरहाउस कूपर (पी0डब्ल्यू0सी0) के पार्टनर श्री मो0 अतहर  भी वर्चुअल जुड़े थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चीन से विश्व में 10 मिलियन डालर सिरेमिक (चीनी मिट्टी से बने उत्पाद) का निर्यात होता। सिरेमिक का 80 फीसदी ग्लोबल मार्केट चीन के पास है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में एक जिला-एक उत्पाद (ओ0डी0ओ0पी0) में सिरेमिक शामिल है। इस व्यवसाय को बढ़ाने के लिए प्रदेश में माटी कला बोर्ड का गठन भी किया गया है। एम0एस0एम0ई0 मंत्री ने कहा कि चीन विश्व में 09 मिलियन डालर का टेक्सटाइल्स एक्सपोर्ट करता है, जो विदेश में होने वाले आयात को 77 फीसदी है। विश्व में फुटवेयर के निर्यात में भी चीन की  57 फीसदी हिस्सेदारी है, चीन से प्रतिवर्ष लगभग 16 बिलियन डालर का निर्यात हो रहा है। इसके अलावा चीन से इलेक्ट्रानिक्स के क्षेत्र में 66 फीसदी हिस्सेदारी के साथ 96  बिलियन डालर का एक्सपोर्ट होता है।
निवेश प्रोत्साहन मंत्री ने कहा कि राजनैतिक उथल-पुथल के कारण विश्व में चाइना का मार्केट शेयर कम होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि चीन से जिन उत्पादों का निर्यात होता है, वे उत्पाद उत्तर प्रदेश में भी उपलबध है। विश्व में चीन का मार्केट शेयर कम होने पर उत्तर प्रदेश से निर्यात बढ़ाने के लिए पीडब्लयूसी इसमें मदद करेंगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के घरेलू बाजार को वैश्विक मार्केट में प्रतिस्पर्धी बनाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उत्पादों की क्वालिटी बढ़ाने, पैकेजिंग को आकर्षक करने तथा ब्रांडिंग पर विशेष बल दिया गया है। इसके लिए प्रत्येक जनपद में सी0एफ0सी0 की स्थापना भी कराई जा रही है।
      श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर कई देशों में भारत के राजदूतों से वर्चुअल मीटिंग करके प्रदेश से निर्यात बढ़ाने पर चर्चा की गई है। इसके परिणाम शीघ्र ही सामने आयेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश से निर्यात को बढ़ाने के लिए पी0वी0सी0 विस्तृत रिपोर्ट तैयार करेगी और इस रिपोर्ट को सभी देशों के दूतावास में भेजा जायेगा। इसके लिए उन्होंने अधिकारियेां को निर्देश दिए कि 02 महीने के अंदर पूरी कार्य योजना तैयार कर प्रस्तुत की जाय।- अमित यादव