ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
श्रीमती स्मृति ईरानी ने आज मध्याचंल की जनसंवाद रैली को सम्बोधित किया
June 27, 2020 • AMIT VERMA • राष्ट्रीय

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 27 जून। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के दूसरे कार्यकाल के प्रथम वर्ष की उपलब्धियों के लेकर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित की जा रही जनसंवाद रैलियां आज सम्मन्न हो गई। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास व कपड़ा मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी ने आज मध्याचंल की जनसंवाद रैली को सम्बोधित किया। रैली में अवध व कानपुर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लाखों लोगों सहित पार्टी के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं ने सहभागिता की। 
        रैली को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा कि यदि राष्ट्र के नेतृत्व की बागडोर काबिल हाथों में हो तो संघर्ष सफलता में बदलता है। देश की कमान जनता के आशीर्वाद व कार्यकर्ताओं के प्रयास से राष्ट्र नायक नरेंद्र मोदी जी के हाथ में है। हम जनता के मध्य काम करने वाले और अपने कार्यों का ब्यौरा देने की रीति में विश्वास करते हैं। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि जनता से संवाद ही भाजपा की थाती है और यह इसलिए संभव हो सका क्योंकि मोदीजी ने डिजिटल इंडिया का आह्वान किया। इस देश ने न जाने कितने गरीब परिवारों को बीमारियों के चलते बिकते व घुटने टेकते देखा। मोदीजी ने आयुष्मान भारत से 10 करोड़ परिवारों को चिकित्सा सहायता का संकल्प लिया। यह अकल्पनीय था, लेकिन 1 साल के भीतर 1 करोड़ से अधिक परिवारों को देश और 18 लाख परिवारों को उत्तर प्रदेश में सहयोग मिल चुका है। जिन्होंने 70 साल देश को लूटा उनके लिए यह बातें मायने नहीं रखती। गांधी परिवार की सोच उनके परिवार की प्रगति तक ही सीमित है। यह सोच कितनी हानिकारक हो सकती है इसका प्रकटीकरण हाल फिलहाल में हमने मीडिया में आई खबरों में देखा है। 
         श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा कि बुंदेलखंड में एक बेटी ने राष्ट्र को प्रोत्साहित करने के लिए बलिदान दिया। एक मां ऐसी थी जिसने अपने बेटे को पीठ पर बांधकर तलवार निकालकर अंग्रेजों को ललकारा था ताकि देश स्वतंत्र हो सके। दुर्भाग्य देखिए  रायबरेली की एक सांसद ऐसी हैं जो राजीव गांधी फाउंडेशन के माध्यम से अपने बच्चों के लिए देश को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। कोई हिंदुस्तानी कल्पना कर सकता था कि वे चीन के साथ समझौता करेंगे, जिससे उस तिजोरी में पैसा आए जिसकी चाबी सोनिया गांधी के हाथ में है। क्या कोई कल्पना कर सकता था कि देश ऐसा मंजर देखेगा कि एक के बाद एक मनमोहन सरकार के मंत्री पॉलीटिकल हफ्ता देंगे। किसी ने सोचा था कि यूपीए अध्यक्ष ऐसा संस्थान स्थापित करेगी, जिसमें मेहुल चैकसी जैसे गोरखधंधा करने वाले से पैसा लेने से भी नहीं हिचकेगी। अमेठी में आपकी घड़ी बंद हो चुकी है, अब रायबरेली का परिणाम बदलने में देर नहीं लगेगी। 
        उन्होंने कहा कि आज बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय की जयन्ती है तथा सैम मानिक शाॅ जी की पुण्यतिथि है, वह क्या सोच रहे होंगे कि कांग्रेस की अध्यक्ष ने चीन से हाथ मिला लिया, जिससे भारत की पीठ पर खंजर भोंक सकें। सोनिया गांधी जी को इतना क्या बैर है हिंदुस्तान से, कि दुश्मन से हाथ मिलाया, चोरों से पैसा लिया, पीएम को रिमोट कंट्रोल बनाया और प्रधानमंत्री राहत कोष से भी पैसा उठा लिया। राष्ट्र की आस्था होती है इस कोष में। उन्होंने कहा कि अमेठी में सम्राट साइकिल में गरीबों का क्या हश्र किया गया था। यूपीएसआईडीसी से जमीन लेकर राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को दी जाती है। आज पता चला कि इस प्रकार का लेनदेन करना इस खानदान की फितरत बन चुकी है। अब मोदी-योगी राज में ऐसे गोरखधंधों की दाल नहीं गलेगी। याद है कि राममंदिर निर्माण की बात होती तो भाजपा के कार्यकर्ताओं का उपहास किया जाता था। देश के सर्वोच्च न्यायालय का आभार जिन्होंने राष्ट्र व संविधान हित में न्याय किया।
         उन्होंने कहा कि जब कोरोना से पूरा विश्व जूझ रहा है, ऐसे में यूपी की जनता को आश्वस्त करना चाहती हूं कि भाजपा का कार्यकर्ता हर पल आपके साथ इस संघर्ष में खड़ा रहेगा। आपकी हर स्वास्थ्य संबंधी जरूरत को केंद्र-प्रदेश सरकार पूरा करेगी। यह क्षण उनके भी अभिनंदन का है, जिन्होंने कभी डाक्टर, नर्स, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के रूप में 100 से अधिक दिनों से अहर्निश सेवा दी है। मैं उन कोरोना योद्धाओं को नमन करती हूं। जब दुनिया एक महामारी से जूझ रही है तब कुछ तत्व भारत की ओर आंख उठाने का दुष्साहस कर रहे हैं। भारत को जब भी ललकारा गया है भारत ने विजय प्राप्त की है। देश के प्रधान सेवक के साथ हर संघर्ष में जनमानस एकजुट हैं, इसलिए ऐसे तत्व गलतफहमी न पालें। 
          श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संविधान को धर्म मानते हुए प्रधान सेवक के रूप में कार्य किया। जनधन योजना पर कुछ लोग उपहास उड़ा रहे थे। देश ने वह मंजर देखा था जब कांग्रेस के एक नेता ने कहा था कि दिल्ली से 1 रुपये चलता है तो 10 पैसा नीचे गरीब तक पहुंचता है। यानि कांग्रेस के नेता ने स्वीकार किया कि 90 पैसे कांग्रेस के दलाल खा जाते हैं। माननीय नरेन्द्र मोदी जी ने वह दलाली बंद कर दी। कांगे्रस के शासन में गरीबों के मुंह पर बैंक के किवाड़ बदं कर दिये जाते थे। अब मोदी जी ने बैंकों के बंद किवाड़ जनता के लिए खोल दिए। आज देश के 20 करोड़ बहनों के खाते में सीधे पैसा मोदी सरकार ने पहुंचाया। जिन लोगों ने 70 साल से अमेठी रायबरेली में एक शौचालय तक नहीं बनवाया उन्हें आज तिलमिलाहट है। पीएम के आह्वान पर 11 करोड़ शौचालय बने। योगीजी ने यूपी में इसे इज्जतघर का नाम दिया। इस भावना को वही समझ सकता है जिसने गरीबी को जिया हो। मोदी ने कहा कि अमीरों के ही घर में उजाला क्यों हो? आज यूपी में 2.60 करोड़ एलईडी बल्ब का वितरण किया गया। विधानसभा चुनाव में जन जन के बीच एक प्रश्न था कि नौकरी कितना मिलेगी? घर कितना बनेगा? तीन साल में 30 लाख मकान बनाकर यूपी सरकार ने भविष्य की चाबी थमाई। ये वो नहीं समझेंगे जिन्होंने लूटकर अपने बंगले बनाए। 8 करोड़ से अधिक बहनों को जीवन में पहली बार मुफ्त में रसोई गैस मिली। जब भी केंद्र की सरकार ने कोई आह्वान किया तो यूपी की सरकार ने उसे तत्परता से लागू किया। इसीलिए यूपी में भी 1.40 करोड़ बहनों को रसोई में धुंए से जूझना नहीं पड़ता। हमारी सरकार ने गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों की चुनौतियों को समझा और उसके समाधान को उन तक पहुंचाया। कुछ कांग्रेस के नेता हैं जो घर से विडियो कॉल के माध्यम से किसी व्यक्ति से चर्चा करते हैं, लेकिन जनता से बात करने का प्रयास नहीं करते। क्योंकि वे जानते हैं कि जनता उनका साथ छोड़ चुकी है। उन्होने कहा कि जब धारा 370 हटाने का संकल्प साकार हो रहा था तो विरोध का स्वर कांग्रेस की ओर से आ रहा था। गरीब कल्याण योजना के जरिए आत्मनिर्भर भारत के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार प्रयास कर रही है। कल ही उत्तर प्रदेश में गांव के गरीबों को रोजगार मिले इसके लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान का शुभारम्भ किया। श्रीमती स्मृति ईरानी ने इसके लिए मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ जी को भी बधाई दी।
         उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने जनसंवाद रैली में कहा कि आज कि पूरे भारत वर्ष में तमाम परिवर्तन बड़ी तेजी के साथ आए है। ऐसी में कोरोना की जंग आन्तरिक विषय के रूप में हमारे सामने है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के निर्माण का संकल्प लिया है। एक ऐसे भारत का सपना जहां नागरिक खुद को व्यवस्थित करते हुए राष्ट्र एवं राज्य के प्रति अपनी समर्पण भावना को व्यक्त करके मजबूती के साथ आगे बढ़ता है। 
       उन्होंने कहा कि कोरोना की जंग में लाॅकडाउन को लागू करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तमाम तरह की स्वास्थ्य सुविधाओं तथा कोरोना से लड़ने के लिए संसाधानों की पूरी तरह से व्यवस्था की। मोदी जी के आह्वान पर देश ने जनता कफ्र्यू, लाॅकडाउन का पालन किया वहीं इस दौरान आई विपरित परिस्थितियों का सामना पूरी बहादुरी के साथ किया। उन्होंने कहा कि व्यवसायकि दृष्टि से 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकैज देश के गरीबों, किसानों व जरूरतमंदो के साथ देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती देगा। उन्होंने कहा कि एक टीम भावना के साथ पूरी एकता से देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व मंे प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार का पूरा साथ देते हुए काम किया। जब कोरोना के कारण श्रमिकों की पैदल अपने घरों की तरफ जाने की तस्वीर सामने आ रही थी तब योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में प्रदेश की सरकार ने राजस्थान से अपने छात्रों को वापस लाने की पहल की। जिसके बाद ट्रेन के माध्यम से श्रमिकों को न सिर्फ वापस लाया गया बल्कि उनकी स्किल मैपिंग करते हुए उनके रोजगार सृजन की तैयारी कर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान का शुभारम्भ भी कर दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों, मजदूरों, युवाओं, महिलाओं समेत सभी वर्गों के कल्याण के लिए केन्द्र सरकार के साथ कंधे से कंधां मिलाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश की तस्वीर को बदलने का काम कर रहे है। 
       भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने जनसंवाद रैली को सम्बोधित करते हुए मोदी सरकार-2 के एक वर्ष के उपलब्धियों को साझा करते हुए कहा कि दृढ़ इच्छाशक्ति और मजबूत इरादे हो तो सब कुछ संभव है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने धारा 370 की समाप्ति, राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करके, नागरिकता संशोधन कानून लागू करके, ट्रिपल तलाक की प्रथा को समाप्त करके मुस्लिम माताओं व बहनों को न्याय दिलाकर मात्र एक वर्ष में ऐतिहासिक कार्य करके दिखाए है। कोरोना महामारी के बीच केन्द्रीय सरकार द्वारा घोषित आत्मनिर्भर भारत पैकेज एक समृद्ध भारत के निर्माण में निश्चित रूप से बड़ा योगदान देने का काम करेगा। भारत की कोरोना के खिलाफ लड़ाई को भी पूरी दुनिया द्वारा सराहा जा रहा है। मोदी जी की दूरदर्शी नीति के कारण हमारा देश लाखों जान बचाने में सफल हो रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश ने जिस प्रकार इस महामारी को रोकने के लिए कदम उठाएँ है, वह अन्य राज्यों के लिए एक ‘मॉडल’ साबित हुआ है। श्री सिंह ने कहा कि आज प्रदेश में 1 लाख से अधिक बेड कोरोना के लिए आरक्षित है, 20 हजार से अधिक प्रतिदिन कोरोना जांच की जा रही है इसके साथ ही बडी संख्या में मास्क और पी.पी.ई किट तैयार की जा रही है। 
        श्री सिंह ने कहा कि सेवा परमो धमर्ः के मूल मंत्र के साथ भाजपा कार्यकर्ता सरकार की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करते हुए उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में जरूरतमंदों तक मास्क, सैनिटाइजर, आदि पहुँचाने का कार्य कर रहे है। उनके समर्पण भाव को नमन करता हूँ। ‬उन्होंने प्रदेश की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि हम सभी 23 करोड़ प्रदेश वासियों की जनशक्ति के संकल्प तथा ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने की दृष्टि की बदौलत हम अपने लक्ष्यों को अवश्य प्राप्त करेंगे और साथ ही कोरोना को शिकस्त देने में सफल होंगे। कोरोना हारेगा, देश जीतेगा। 
        इससे पूर्व उन्होंने केन्द्रीय मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी को अभिनंदन करते हुए कहा कि कहा कि स्मृति जी की जीत ऐतिहासिक थी, उनकी जीत में इस बात की सीख थी कि लक्ष्य पाने का सपना केवल परिश्रम से ही पूरा किया जा सकता हैं, सही दिशा में निरंतर किए गए परिश्रम का परिणाम सदैव मिलता है। उन्होने कहा कि अमेठी में जहां एक ओर कांग्रेस के नेता एक परिवार की विरासत बचाने में जुटे हुए थे। वहीं दूसरी ओर स्मृति जी भाजपा के कर्मठ और जुझारू कार्यकर्ताओं के साथ अमेठी के हजारों परिवारों का भविष्य उज्ज्वल करने के लिए संघर्ष कर रही थी, इस संघर्ष और अमेठी के लोगों की जनशक्ति को देख कर राहुल बाबा समय रहते अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने के लिए अमेठी से 2000 किलोमीटर दूर केरल जा पहुँचे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 2.0 का एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में आज का यह जनसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जो काम पिछले 70 वर्षों में नहीं हुए वह पिछले एक वर्ष में पूरे किए गए। इस एक वर्ष में सरकार द्वारा उठाये गये कदमों से देशवासियों का मोदी सरकार के प्रति समर्पण व विश्वास और भी ज्यादा बढ़ा है।
       रैली में पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय दिल्ली में श्रीमती स्मृति ईरानी का स्वागत केन्द्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति व पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री डा. अनिल जैन ने किया। रैली का संचालन पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व अवध क्षेत्र के प्रभारी जेपीएस राठौर ने व आभार प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया ने किया। मंच पर कानपुर बुन्देलखण्ड के अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह ने प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा व अवध क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष सुरेश तिवारी ने पार्टी के प्रदेश स्वतंत्र देव सिंह का स्वागत किया। रैली की शुरूआत में गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धासुमन अर्पित किये गए। रैली के अंत में स्वदेशी, स्वाबलम्बी व आत्मनिर्भर भारत का संकल्प लिया गया। 
       इस अवसर प्रमुख रूप से पार्टी के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल सहित कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, आशुतोष टण्डन, डा. महेन्द्र सिंह, मुकुट विहारी वर्मा, ब्रजेश पाठक, रमापति शास्त्री, श्रीमती कमलारानी वरूण, राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाती सिंह, राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह ‘धुन्नी सिंह‘, श्रीमती नीलिमा कटियार, मोहसिन रजा, चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय, जय कुमार सिंह ‘जैकी‘, लाखन सिंह राजपूत, मनोहर लाल ‘मन्नू कोरी‘, अजीत सिंह पाल, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सुधीर हलवासिया, राकेश त्रिवेदी, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, पंकज सिंह, गोबिन्द नारायण शुक्ला, विद्यासागर सोनकर, प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता, संतोष सिंह, त्रयम्बक त्रिपाठी, अमर पाल मौर्या अनुसूचित मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर, निदेशक जिला सहकारी बैंक जीतेन्द्र सोनकर सहित बड़ी संख्या में पार्टी के प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित रहे।