ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
सीआईपीएल फाउंडेशन ने  मेधावी बच्चो को टेबलेट कंप्यूटर भेंट कर किया सम्मानित
August 14, 2020 • AMIT VERMA • अन्य राज्य

वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
उत्तराखंड/देहरादून 14 अगस्त। आज दिनांक 14 अगस्त 2020 को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व स्वर्णिम संध्या पर ग्राम पंचायत कोटी मयचक परिसर माता बलसुंदरी मंदिर, थानों विकास खंड, रायपुर जिला देहरादून, उत्तराखंड में सीआईपीएल फाउंडेशन के द्वारा न्यायपंचायत थानों में स्थित हाईस्कूल व इंटरमीडिएट कॉलेज के मेधावी छात्र/छात्राओं को उनके उच्चतर कक्षाओं में अध्ययन सुलभता एवं प्रोत्साहन हेतु परितोष के तौर पर टेबलेट कंप्यूटर प्रदान किया गया।
        कोरोना काल के दौरान अध्ययन अध्यापन में आई कठिनाइयों को दूर करने में एक प्रभावशाली एवं उपयोगी कदम साबित होगा। ये मेधावी छात्र/छात्राएं अपनी उच्च शिक्षा को उच्च कोटि की गुणवत्तापरक रूप से संचालित करने तथा शिक्षा व समग्रविकास के क्षेत्र में विकसित कर सकेंगे। इसके अलावा यहाँ के 150 परिवारों को कोरोना किट जिसमे जूट बैग, मास्क, सेनेटाइजर, टीशर्ट, हैंडवाश शॉप, डेटॉल वितरित  किया गया। जिससे कि यहां के परिवारों को कोरोना से खुद का बचाव कर सके और कोरोना से मुक्त रहने में मदद मिल सके। शिक्षा के क्षेत्र में समस्त क्षेत्रवासीयो एवं जनप्रतिनिधिगण,अभिभावक व चयनित छात्र/छात्राएं सी0 आई0 पी0 एल0 फाउंडेशन के इस पुनीत कार्य के प्रति अपना दिल से आभार व्यक्त करते हए इस उत्कृष्ट कार्य हेतु महान समाजसेवी एवं समाज के प्रति अति संवेदित व्यक्ति विनोद कुमार को हृदय से आशीर्वाद दिया। विनोद कुमार ने सभा को वन्देमातरम के उद्घोष के साथ प्रारम्भ कर। आज का यह स्वर्णिम विहान जो मेरे जीवन का अतुल्य और अद्भुत वक्त है जो कभी शब्दों  में बयान नही कर सकता। इन देश  के भविष्यों के साथ इनके चेहरे की ख़ुशी मेरे बचपन की याद को तरोताजा कर रही है। मेरा उद्देश्य किसी राजनीती से नही मानव जीवन पाने के कर्तव्य को पूरी निष्ठां  से निभाना चाहता हूँ। 
       उन्होंने कहा कि आज पुरे विस्वास  के साथ कहता हूँ की यहां  उपस्थित  हर बच्चा भारत का उज्ज्वल कल होगा और नव भारत र्नमािण में इन्ही पहाड़ो की तरह पूरी निष्ठां से अडिग खड़ा होगा। आज हर व्यक्ति सिर्फ यह सोच ले की इस भारत देश  के अंतिम गॉव का बच्चा भी अनपढ़ नही रहना चाहिए  और एक प्रयास करे तो पुरे विस्वास  के साथ कहता हूँ की वो दिन दूर नहीं जब भारत विश्व गुरू के रूप में अपनी अंतराष्ट्रीय पटल पर उपस्थिति दर्ज कराये। जैसा की आप सब जानते है की कल स्वतन्त्रता दिवस है। 15 अगस्त सन 1947 का वो स्वर्णिम विहान जो भारत की वसुंधरा  पर प्रथम बार अवतरित हुवा था जिसकी याद  में हम सब भारत वासी प्रत्येक वर्ष  स्वतन्त्रता दिवस  को  राष्ट्रीय पर्व  के रूप में मनाते है। आज हमारी संस्था सीआईपीएल फाउंडेशन  द्वारा जो कोरोना से बचाव के लिए  जो किट  वितरण किया गया वो हमारे समाज की हमारे व्यवस्था  की हमारे प्रबंधन  की नैतिक जिम्मेदारी बनती है की  हमारे देश  का हर नागरिक  सुरछित  रहे। हमने कोई एहसान नही किया।  एहसान तो आप सबने हमे आशीर्वाद दे के मुझ पर किया है। लेकिन  ये किसी  पूर्व  जन्म का प्रेम अथवा कोई संबंध  रहा होगा जो मुझे किसी  न किसी  माध्यम से आप तक ले के आया। आज मेरी आत्मा जानती है की मै अपने आपको कितना खुशनसीब  महसूस कर रहा हूँ। और आज इसी मंच  से बड़े ही मजबूती से कह रहा हूँ की जीवन में कभी भी आप लोगो ने मुझे याद किया  तो अपने मध्य उपस्थित पाएंगे। और ये भी पूर्ण  विस्वास  के साथ कह रहा हूँ की आपके प्यार और आशीर्वाद से प्राप्त  हुवा हर फल  आपकी आजीवन सेवा हेतु समर्पित होगा। !!जय र्हन्द !!।