ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
प्रत्येक जनपद में एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में पर्याप्त संख्या में बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए - अवनीश अवस्थी
August 6, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 06 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना महामारी को एक चुनौती मानते हुए इससे निपटने के लिए किये जा रहे प्रयासों में तेजी लायी जाए। कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए प्रोएक्टिव होकर कार्य करना आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने जनपद कानपुर नगर, झांसी, वाराणसी, गोरखपुर तथा प्रयागराज में कोविड-19 के उपचार व संक्रमण नियंत्रण की व्यवस्था को और बेहतर करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि जनपद कानपुर नगर में एस0जी0पी0जी0आई0 अथवा के0जी0एम0यू0 के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम भेजी जाए, जो वहां कैम्प कर चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने में आवश्यक सहयोग एवं मार्गदर्शन प्रदान करे। उन्होंने कहा कि अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा शिक्षा को जनपद लखनऊ के एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों का भ्रमण कर भरे तथा रिक्त बेड्स की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।
        श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने जनपद कानपुर नगर सहित पूरे प्रदेश में सर्विलान्स व्यवस्था को और प्रभावी बनाए जाने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा है कि काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग तथा डोर-टू-डोर सर्वे गतिविधियां बेहतर की जाएं। उन्होंने कन्टेनमेंट जोन में पूरी सावधानी बरतते हुए व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश देते हुए कहा है कि कन्टेनमेंट जोन में प्रत्येक व्यक्ति का मेडिकल टेस्ट कराया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये है कि जनपद स्तर पर इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर द्वारा दूरभाष के माध्यम से होम आइसोलेशन में गये प्रत्येक व्यक्ति से संवाद बनाते हुए उनके स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी प्राप्त की जाए। इस कार्य में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन का भी उपयोग किया जाए। उन्होंने मास्क के अनिवार्य उपयोग के सम्बन्ध में प्रवर्तन कार्रवाई में तेजी लाने के निर्देश भी दिये।
  श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि प्रत्येक जनपद में एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में पर्याप्त संख्या में बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। इसके साथ ही, आवश्यकतानुसार चिकित्सा कर्मियों तथा मेडिकल उपकरणों की समुचित व्यवस्था भी की जाए। एल-2 तथा एल-3 कोविड अस्पताल में मानक के अनुरूप वेन्टिलेटर्स की व्यवस्था रहनी चाहिए। उन्होंने टेस्टिंग क्षमता में निरन्तर वृद्धि किये जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से प्रतिदिन की जा रही टेस्टिंग को बढ़ाया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड-19 में बचाव सबसे महत्वपूर्ण हैं। इसलिए लोगों को इस रोग से बचने के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक किया जाए। संक्रमित होने पर व्यक्ति को समय पर कोविड अस्पताल पहुंचाकर लक्षण के आधार पर उसका उपचार किया जाना चाहिए।
         श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने महानिदेशक, स्वास्थ्य तथा महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा को प्रदेश के एल-2 तथा एल-3 कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में हुई वृद्धि का विवरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है। उन्होंने यह भी निर्देश दिये है कि जनपद स्तर पर इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर के लिए तैनात नोडल अधिकारी की जानकारी सम्बन्धित जिलाधिकारी से प्राप्त की जाए। उन्होंने जनपद स्तर पर एम्बुलेंस सेवा के प्रभावी संचालन के लिए नामित प्रभारी अधिकारी का विवरण सम्बन्धित मुख्य चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त करने के भी निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में प्रभावित लोगों के लिए राहत व बचाव कार्य प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि बाढ़ प्रभावितों को हर सम्भव राहत उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा है कि बाढ़ राहत कार्याें के सम्बन्ध में नियमित मीडिया ब्रीफिंग की जाए। बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत एवं बचाव कार्याें की जानकारी जनपद स्तर पर मीडिया को उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा है कि रोजगार उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर जिला सेवायोजन कार्यालय को सक्रिय किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कल उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम की 6,357 बसों के माध्यम से 10,06,307 लोगों के यात्रा करने पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये थे कि एक अस्थायी जेल अपने जिले में बनाये, जिनमें से 63 जनपद में अस्थायी जेल बन गयी है और बाकी शेष जनपदों में अस्थायी जेल बनाने निर्देश दिये गये हैं इसके साथ-साथ कैदी को जेल में ले जाने से पहले कोविड-19 की जांच अवश्य करायें।
      श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 1,72,625 एफआईआर दर्ज करते हुये 3,48,440 लोगों को नामजद किया गया है। उन्होंने लोगो ंसे अपील की है कि मास्क पहनने तथा दो गज की दूरी बनाये रखे। प्रदेश में अब तक 1,16,16,195 वाहनांे की सघन चेकिंग में 66,538 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 58,50,69,399 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1,042 लोगों के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के अन्तर्गत 781 एफआईआर दर्ज किये गये है। फेक न्यूज के अन्तर्गत 2118 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 9880 हाॅट स्पाॅट के 1087 थानान्तर्गत 14,09,021 मकानों के 84,77,265 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाटॅस्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 36,798 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाईन किये गये लोगों की संख्या 18551 है। प्रदेश में हाॅटस्पाॅट वाले बस्तियों की अनुमानित जनसंख्या 94,08,869 के सापेक्ष 12,161 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि’ कुल 14,866 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 12,902 है। प्रोविजन स्टोर के माध्यम से डिलिवरी करने वालों की संख्या 12,616 है। हाॅट स्पाॅट क्षेत्रों में कुल 24 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। इन बस्तियों में 13,43,944 राशन कार्डो पर खाद्यान्न वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त सरकारी संस्थाओं/सामुदायिक किचन के माध्यम से 2,629 नागरिकों को लाभान्वित तथा धार्मिक/स्वैच्छिक संस्थाओं के माध्यम से 579 नागरिकों को लाभान्वित किया गया है।
       अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 87,348 सैम्पल की जांच की गयी, जिसमें 59,846 रेपिड एन्टीजन टेस्ट तथा शेष आर0टी0पी0सी0आर0, ट्रूनेट मशीन तथा अन्य विधि से जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 27 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक 27,97,687 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 4698 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 43654 कोरोना के मामले एक्टिव हैं, जिसमें 14,206 मरीज होम आइसोलेशन, 1282 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 178 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। अब तक 63402 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि अबतक 20,103 मरीज होम आइसोलेशन की फैसलिटी का उपयोग कर चुके है तथा 5897 मरीज होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर चुके है। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 2054 पूल की जांच की गयी, जिसमें 1895 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 159 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।
      श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 2,21,673 सर्विलांस टीम द्वारा 1,57,94,134 घरों के 7,95,68,776 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 61,350 कोविड हेल्प डेस्क विभिन्न विभागों, निजी प्रतिष्ठानों, उद्योगों में स्थापित कर दिये गये है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 3,12,972 लक्षणात्मक लोग मिलें।- इंजेश सिंह/धर्मवीर खरे