ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
पवित्र तीर्थ स्थलों पर करोना का खतरा समाप्त होने पर ही जाएं श्रद्धालु - केशव प्रसाद मौर्य 
March 21, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

 
- अभी घर पर ही करें अनुष्ठान
वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 21 मार्च। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आम जनमानस से अपील की है कि वह कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर, भीड़भाड़ पवित्र तीर्थ स्थलो पर न जांय और अपने घरों पर रहकर धार्मिक अनुष्ठान करें। बहुत जरुरी होने पर ही बाहर निकले/यात्रा करें।
       नवरात्रि मे अयोध्या में 25 मार्च से आयोजित होने वाले रामनवमी मेला के मद्देनजर उन्होंने यह भी अपील की है कि अभी घर में ही अनुष्ठान करें, धार्मिक एवं मंदिर दर्शन से यथासंभव बचा जाए। करोना वायरस कोविड-19 ने संपूर्ण विश्व में महामारी का रूप धारण कर लिया है, ऐसी परिस्थिति में बाहर जाने वाले सभी श्रद्धालुओ/ दर्शनार्थियो के लिए उचित होगा कि वह अनावश्यक यात्रा न करें ।करोना वायरस संक्रमण से बचाव हेतु अपने इष्ट देवों की पूजा /अर्चना/,धार्मिक अनुष्ठान,आस्था स्वरूप अपने स्थल पर रहते ही करे।  अति आवश्यक यात्राओं को छोड़कर अनावश्यक यात्रा न करें। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी अपना अयोध्या जाने का प्रोग्राम भी स्थगित कर दिया है।
      उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमन्त्री केशव प्रसाद मौर्य ने देश में "जनता कर्फ्यू" लागू करने के प्रधानमंत्री के आह्वान पर लोगों से अपील की है कि सभी लोग पूरी निष्ठा व अनुशासन के साथ  जनता कर्फ्यू का पालन करते हुए इस महामारी से लड़ने में राष्ट्र की मदद करें। "जनता कर्फ्यू "यानी जनता के लिए जनता द्वारा लगाया गया कर्फ्यू ।उन्होंने कहा है प्रधानमंत्री जी की अपील के अनुरूप 22 मार्च (रविवार) को सुबह 7:00 बजे से रात 9:00 बजे तक "जनता कर्फ्यू" में सभी लोग सहयोग करें। उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सभी लोग पूरी सावधानी बरतें। समाज में जागरूकता फैलाई जाए। सरकार द्वारा किए जा रहे प्रबन्धो के क्रियान्वयन में जनप्रतिनिधि, समाजसेवी, स्वैच्छिक संस्थाएं आदि सभी लोग सहयोग करें। 
      केशव प्रसाद मौर्य ने प्रधानमन्त्री के  नवरात्रि पर 9 आग्रहों का उल्लेख करते हुए कहा है कि सभी देशवासी प्रधानमंत्री के आग्रह को स्वीकार करते हुए आने वाले कुछ सप्ताह तक बहुत जरूरी हो तभी अपने गांव /घर से बाहर निकले । 22 मार्च को शाम 5:00 बजे थाली या ताली बजाकर सेवाभावियो का सभी लोग धन्यवाद करें।