ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुख्यमंत्री ने कोविड-19 को नियंत्रित करने के लिए डाॅक्टरों की संख्या में वृद्धि के निर्देश दिए - अवनीश कुमार अवस्थी
August 13, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 13 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग के कार्य को और तेज किए जाने पर बल दिया है। उन्हांेने कहा है कि काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिल रही है। इसके दृष्टिगत यह कार्य अत्यन्त सुव्यवस्थित ढंग से किया जाए। उन्होंने कहा है कि प्रयास किया जाना चाहिए कि कन्टेनमेंट जोन में सभी लोगों का कोविड टेस्ट हो जाए। तभी कन्टेनमेंट जोन बनाने का उद्देश्य पूरा होगा। उन्होंने होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड मरीजों से नियमित संवाद बनाकर उनके स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी प्राप्त करते रहने के निर्देश भी दिए हैं।
      श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए कोविड अस्पतालों में डाॅक्टरों की संख्या में वृद्धि के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जनपद कानपुर नगर, लखनऊ तथा वाराणसी के कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या बढ़ाई जाए। लखनऊ के कैंसर संस्थान में डेडिकेटेड कोविड चिकित्सालय स्थापित किया जाए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को प्रत्येक जनपद में एल-2 कोविड चिकित्सालयों के बेड्स की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी जनपदों में खाद की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा है कि किसानों के लिए कृषि सम्बन्धी अन्य सामग्री की सुचारु व्यवस्था भी बनाए रखी जाए। उन्होंने गत दिवस कतिपय क्षेत्रों में बिजली उपभोक्ताओं की बाधित विद्युत आपूर्ति के प्रकरण की जांच एस0टी0एफ0 से कराए जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि जांचोपरान्त दोषी पाए गए लोगों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए।  
       श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बाढ़ के दृष्टिगत पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री समय से उपलब्ध कराई जाए। बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में फसल को हुए नुकसान का सर्वे कराकर प्रभावित किसानों को मुआवजा देने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में धारा 107/116 के अन्तर्गत 66,163 चालान किये गये, धारा 111 के अन्तर्गत 65,447 नोटिस निर्गत की गयी और 35,130 वादों में 1,24,811 व्यक्तियों को पाबंद किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शस्त्र अनुज्ञा के विरूद्ध 1506 शस्त्रों के निलम्बन व 435 शस़्त्रों के निरस्तीकरण की कार्यवाही की गयी है। प्रदेश में 2452 गैंगचार्ट अनुमोदन हेतु भेजे गये जिनमें से 2,363 गैंगचार्ट जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदित किये गये। 73.54 करोड़ रूपये की सम्पत्ति धारा 14 के अन्तर्गत कुर्क की गयीं। उन्होंने बताया कि पुलिस/प्रशासन व अन्य विभागों की 11,011 गाड़ियों में पब्लिक एड्रेस सिस्टम की स्थापना की गयी है। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की 6,769 बसों के माध्यम से कल 9,21,807 लोगों ने यात्रा की।
      श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 1,83,449 एफआईआर दर्ज करते हुए 3,64,632 लोगों को नामजद किया गया। प्रदेश में अब तक 1,22,51,188 वाहनांे की सघन चेकिंग में 67,374 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 62.13 करोड़ रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1,063 लोगों के खिलाफ 786 एफआईआर दर्ज करते हुए 390 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
      अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 87,214 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 35 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक 35,01,127 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 4,603 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 49,709 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 22,408 मरीज होम आइसोलेशन, 1653 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 186 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 43,101 लोग होम आइसोलेशन में भेजे गये है जिसमें से 20,398 लोग होम आइसोलेशन की अवधि पूरी करते हुए पूरी तरह से स्वास्थ्य हो चुके है। प्रदेश में अब तक 88,786 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 3169 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2990 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 179 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।
     श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 2,43,243 सर्विलांस टीम द्वारा 1,70,65,403 घरों के 8,58,86,280 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप पर अलर्ट जनरेट होने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा फोन कर अब तक 8,76,982 लोगों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड केयर के साथ-साथ नाॅन कोविड केयर पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विगत वर्ष 01 जून से 12 अगस्त के मध्य 42,528 मेजर सर्जरी हुयी थी, इस वर्ष भी इस अवधि में 34,139 मेजर सर्जरी की गयी है। इसी प्रकार विगत वर्ष 01 जून से 12 अगस्त के मध्य 71,560 माईनर सर्जरी की गयी थी, इस वर्ष भी इस अवधि में 53,623 माईनर सर्जरी की गयी है।- अमित शुक्ला/इंजेश सिंह/जयेन्द्र सिंह