ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुख्यमंत्री ने एल-2, एल-3 कोविड चिकित्सालयों में 50 हजार बेड्स यथाशीघ्र तैयार करने के निर्देश दिये - अवनीश कुमार अवस्थी
August 4, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेब वार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 4 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने एल-1 में बेडों की पर्याप्त संख्या पर संतोष व्यक्त किया तथा एल-2, एल-3 कोविड चिकित्सालयों में 50 हजार बेड्स यथाशीघ्र तैयार करने के निर्देश दिये हैं। इन बेड्स के लिए चिकित्सा कर्मियों सहित अन्य आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने महानिदेशक, स्वास्थ्य तथा महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा को इस सम्बन्ध में समयबद्ध ढंग से कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये हैं। उन्होंने प्रत्येक जनपद में इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर को प्रभावी रूप से क्रियाशील करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि जिस जनपद में इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर स्थापित होने के बावजूद सुचारु रूप से कार्यशील नहीं हैं, ऐसे जनपद के जिलाधिकारी की जवाबदेही तय की जाएगी। उन्होंने होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीजों से इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेण्टर द्वारा दिन में दो बार दूरभाष से संवाद स्थापित कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त करने के निर्देश भी दिये हैं।
     श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने एम्बुलेंस व्यवस्था को और बेहतर करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि ‘108’ एम्बुलेंस सेवा के साथ-साथ सरकारी चिकित्सालयों तथा मेडिकल काॅलेज की कुल एम्बुलेंस का 50 प्रतिशत कोविड मामलों में तथा शेष 50 प्रतिशत नाॅन कोविड मामलों में उपयोग किया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति के आधार पर सम्बन्धित कोविड चिकित्सालय में बेड उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरतना आवश्यक है। किसी को भी महामारी फैलाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। संक्रमण को नियंत्रित करने में सभी का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने कानपुर नगर की चिकित्सा सेवाओं को बेहतर करने तथा वेन्टिलेटर बेड्स की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश भी दिये हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने बाढ़ की समीक्षा करते हुए कहा है कि बाढ़ग्रस्त इलाकों में प्रभावित लोगों को हर सम्भव राहत एवं मदद उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 तथा संचारी रोगों के नियंत्रण के उद्देश्य से प्रत्येक शनिवार तथा रविवार को विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान को प्राथमिकता के आधार पर जारी करने के निर्देश दिये गये। उन्होंने बताया कि कल रक्षाबन्धन के अवसर पर उत्तर प्रदेश परिवहन निगम रोडवेज द्वारा महिलाओं के लिये निशुल्क बसें चलायी गयी। बसों से कुल 9.50 लाख लोगो ने यात्रा की। जिसमें 06 लाख से अधिक महिलाओं थी। उन्होंने बताया कि कल पूरे प्रदेश में रक्षाबन्धन के पर्व को शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया।
     श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 1,69,684 एफआईआर दर्ज करते हुये 3,44,617 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,14,14,834 वाहनांे की सघन चेकिंग में 66,238 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 57,40,10,649 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1,042 लोगों के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के अन्तर्गत 777 एफआईआर दर्ज किये गये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 9314 हाॅट स्पाॅट के 1084 थानान्तर्गत 13,75,399 मकानों के 81,87,998 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन हाटॅस्पाॅट क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 33,388 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाईन किये गये लोगों की संख्या 18703 है।
     श्री अवस्थी ने बताया कि निर्माण कार्यों से जुडे़ 18.22 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.91 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.74 लाख निराश्रित व्यक्तियों को रु0 1,000-1,000ध्- के आधार पर कुल 33.87 लाख लोगों को 338.64 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। प्रदेश की पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्ट एवं मास्क सहित कुल 97 इकाईयां क्रियाशील हैं। प्रदेश में 1127 फ्लोर मिल, 503 तेल मिल एवं 355 दाल मिल संचालित की जा रही है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के सम्बंध में राहत आयुक्त कार्यालय में राज्य स्तर पर स्थापित एकीकृत आपदा नियंत्रण केन्द्र के टोल फ्री हेल्पलाईन नं0 1070 पर प्राप्त 1,19,416 काॅल्स में से 1,18,561 का निस्तारण किया गया।
     अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 66,713 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 26 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक 26,89,973 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 2983 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 41,222 कोरोना के मामले एक्टिव हैं, जिसमें 13,045 मरीज होम आइसोलेशन, 1,353 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 152 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। अब तक 57,271 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 3,076 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2768 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 308 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी।
     श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 2,15,102 सर्विलांस टीम द्वारा 1,54,16,412 घरों के 7,77,34,311 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 58,947 कोविड हेल्प डेस्क विभिन्न विभागों, निजी प्रतिष्ठानों, उद्योगों में स्थापित कर दिये गये है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 2,75,320 लक्षणात्मक लोग मिलें। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। अलर्ट जनरेट होने पर अब तक 7,00,220 लोगों को कंट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी।-इंजेश सिंह/धर्मवीर खरे