ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुख्यमंत्री ने अनलाॅक-2 व्यवस्था में भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देश दिए - अवनीश कुमार अवस्थी
June 30, 2020 • AMIT VERMA • राष्ट्रीय


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 29 जून। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अनलाॅक-2 व्यवस्था में विभिन्न गतिविधियों को भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के प्राविधानों का अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ अनलाॅक-2 व्यवस्था को लागू किया जाए। उन्होंने बताया कि अनलाॅक-2 मे ंरात्रि कफ्र्यू रात्रि 10 बजे से सुबह 05 बजे तक रहेगा। 31 जुलाई तक समस्त शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोरोना संक्रमण का उपचार ही बचाव है। इसलिए कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी व सतर्कता बरतना आवश्यक है। यथा सम्भव लोग अनावश्यक आवागमन से बचें। उन्होंने कोविड-19 के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से संचालित प्रचार-प्रसार के कार्य को जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि इसके लिए रेडियो, टी0वी0 के साथ-साथ बैनर, पोस्टर, हैण्डबिल आदि के माध्यम से जागरूकता सृजित की जाए।
       श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए प्रयास लगातार जारी रखे जाएं। टेस्टिंग क्षमता प्रतिदिन 25,000 से अधिक बढ़ाया जाए। कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाया जाए। कोविड हेल्प डेस्क में इंफ्रारेड थर्मामीटर एवं पल्स आॅक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। हेल्प डेस्क पर कार्यरत कर्मियों को मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर दिया जाए। कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों से संवाद बनाकर उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति से नियमित तौर पर अवगत कराया जाए। उन्होंने सभी अस्पतालों के होल्डिंग एरिया कम करने तथा वहां की स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने तथा चिकित्सालयों में व्हील चेयर तथा स्ट्रेचर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि 01 जुलाई, 2020 से संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारम्भ हो रहा है। संचारी रोगों के साथ-साथ कोविड-19 को नियंत्रित करने में स्वच्छता की बड़ी भूमिका है। इसके दृष्टिगत उन्होंने ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में मिशन मोड पर स्वच्छता अभियान संचालित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान के दौरान इस पर भी ध्यान दिया जाए कि लोग मास्क अथवा फेस कवर का अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए है कि गौ-आश्रय स्थलों पर गौवंश के लिए भूसे के साथ-साथ हरे चारे की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि टिड्डी दल द्वारा कृषि को कोई नुकसान न पहुंचे, इसके लिए रसायनों के छिड़काव के व्यापक प्रबन्ध किए जाएं। टिड्डी दल को मारने में ड्रोन कैमरे का भी इस्तेमाल किया जाए। उन्होंने कहा है कि खनन से अधिक से अधिक राजस्व प्राप्त करने के लिए टेण्डर प्रक्रिया अभी से प्रारम्भ कर दी जाए, जिससे 01 अक्टूबर, 2020 से खनन कार्य प्रारम्भ किया जा सके। उन्होंने बताया कि प्रदेश में खनन विभाग ने अपने 300 करोड़ रूपये के राजस्व के लक्ष्य को प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि खनन से सम्बन्धित मोरंग, बालू के दामों को नियंत्रित रखने, प्रदेश सरकार के राजस्व में वृद्धि एवं सप्लाई व्यवस्था को सुचारू रूप से बनाये रखने के लिए 01 अक्टूबर से खनन कार्य को प्रारम्भ करने के लिए समस्त आवश्यक तैयारी कर ली जाए।
       श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना के कार्य को तेज गति से किया जाय। प्रदेश में कोविड हेल्प डेस्क का जाल बिछाया जाए। उन्होंने कहा है कि सभी पी0एच0सी0 एवं सी0एच0सी0 थानों, विकास खण्डों तहसील, निजी अस्पतालों तथा सभी कार्यालायों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जाए। उन्होंने बताया कि सभी पी0एच0सी0 और सी0एच0सी0 में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश मे समस्त जिलाधिकारी कार्यालय सहित विभिन्न शासकीय कार्यालयों, जिला अस्पताल, तहसीलों, विकास खण्डों, थानों सहित विभिन्न स्थलों पर अब तक 6,000 से अधिक  कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये है। उन्होनें बताया कि आगरा में 276, फिरोजाबाद में 79, मैनपुरी में 61, मथुरा में 130, अलीगढ़ में 107, हाथरस में 38, कासगंज में 39, एटा में 79, आजमगढ़ में 98, बलिया में 02, मऊ में 53, प्रयागराज में 40, कौशाम्बी में 83, फतेहपुर में 49, प्रतापगढ़ में 88, कानपुर में 141, कानपुर देहात में 75, इटावा में 82, फर्रूखाबाद में 62, कन्नौज में 70, औरैया में 176, गोरखपुर में 179, कुशीनगर में 70, देवरिया में 29, महाराजगंज में 72, बादंा में 57, चित्रकूट में 40, हमीरपुर में 11, महोबा में 25, झांसी में 41, जालौन में 50, ललितपुर में 33, गोण्डा में 77, बहराइच में 66, श्रावस्ती में 23, बलरामपुर में 43, अयोध्या में 104, अम्बेडकर नगर में 65, बाराबंकी में 168, सुल्तानपुर में 99, अमेठी में 84, बरेली में 66, पीलीभीत में 32, बदायूॅ में 18, शाहजहाॅपुर में 65, बस्ती में 96, सिद्धार्थनगर में 30, सतंकबीर नगर में 35, मिर्जापुर में 76, भदोही में 30, सोनभद्र में 38, मुरादाबाद में 106, बिजनौर में 20, संभल में 42, रामपुर में 49, अमरोहा में 76, मेरठ में 155, बुलंदशहर में 160, गाजियाबाद में 274, हापुड़ में 52, गौतमबुद्धनगर में 24, बागपत में 67, लखनऊ में 80, हरदोई में 144, लखीमपुरखीरी में 135, रायबरेली में 221, सीतापुर में 82, उन्नाव में 122, वाराणसी में 142, चन्दौली में 81, गाजीपुर में 101, जौनपुर में 222,  सहारनपुर में 40, मुजफफ्रनगर में 49 तथा शामली में 103 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये है। उन्होंने कहा कि जिन्हें भी किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण दिखायी देते है, वे लोग नजदीकी कोविड हेल्प डेस्क पर जाकर आवश्यक सलाह प्राप्त कर सकते है। कोविड हेल्प डेस्क पर उन्हें समुचित सलाह तथा सुविधाएं दी जायेंगी।
       श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग की धारा 188 के तहत 81,461 एफआईआर दर्ज करते हुये 2,10,181 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 79,92,081 वाहनांे की सघन चेकिंग में 59,934 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 37,14,79,667 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 3,14,8645 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 965 लोगों के खिलाफ 727 एफआईआर दर्ज करते हुए 349 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 1617 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 30 जून को कुल 20 मामले, जिनमें ट्विटर के 13 और फेसबुक के 07 मामले को संज्ञान में लिया गया हंै तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है। 30 जून तक ट्वीटर के 151, फेसबुक के 114, टिकटाॅक के 60 तथा व्हाटसएप के 01 एकाउण्ट कुल 326 एकाउण्ट्स को ब्लाॅक किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 2752 हाॅट स्पाॅट के 823 थानान्तर्गत 9,01,259 मकानों के 65,45,179 लोगों को चिन्हित किया गया है।
        श्री अवस्थी ने बताया कि उद्योग विभाग कि सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 7,85,561 इकाइयॉ क्रियाशील हैं, जिनमें 49.53 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। प्रदेश की पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्टे/मास्क् निर्माण की 72 इकाईयों में से 70 यूनिट तथा मेडिकल इक्यूशपमेंट एवं दवा निर्माण की 414 इकाइयाँ उत्पादनरत हैं। प्रदेश में 57,184 कॉमन सर्विस सेन्टर (जन सुविधा केन्द्र) क्रियाशील हैं, जिनमें 1,14,368 व्यक्ति कार्यरत हैं। निर्माण कार्यों से जुड़े 18.13 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.90 लाख तथा ग्रामीण क्षेत्र के 6.74 लाख निराश्रित श्रमिकों को रू0 1,000/- प्रति व्यक्ति के हिसाब से कुल 33.77 लाख व्यक्तियों को अब तक प्रथम किश्त के रूप में कुल 337.74 करोड़ का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में लगभग 7,000 उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बसों के माध्यम से लगभग 7,14,000 लोगों ने यात्रा की।
       अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी कल 05 कालिदास मार्ग, स्थित अपने सरकारी आवास पर प्रातः 10 बजे संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारम्भ करेंगे। उन्होंने बताया कि 01 जुलाई से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि बरसात का मौसम प्रारम्भ हो रहा है। इसमें चिकनगुनिया, मलेरिया, जेई, एवं ए0ई0एस0 इत्यादि बीमारियां फैलती है। उन्होंने बताया कि इसके अन्तर्गत लोगों में जागरूकता उत्पन्न करने एवं साफ-सफाई करने के लिए अभियान चलाया जायेगा। यह अभियान प्रदेश के समस्त जनपदांे में कल से प्रारम्भ किया जायेगा। चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना, हरदोई में एवं चिकित्सा मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, सिद्धार्थनगर में संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारम्भ करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में दस्तक अभियान 16 जुलाई से 31 जुलाई तक चलाया जायेगा। जिसमें आशा वर्कस घर-घर जाकर इन बीमारियों से बचने से उपाय के बारे में लोगों को जागरूक करेंगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल एक दिन में 21,414 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 7,27,793 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 6,711 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 16,084 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 68.46 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 2123 पूल की जांच की गयी, जिसमें 1858 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 265 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि एल-1, एल-2 तथा एल-3 अस्पतालों में 1,51,172 बेड की व्यवस्था हो गयी है जो एक रिकार्ड है।
श्री प्रसाद ने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 19,41,100 कामगारों/श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया। जिसमें से 1741 लोगों में कोरोना जैसे लक्षण मिले। इन लोगों के सैम्पल लेकर उनकी जांच की जा रही है, जिसमंे से 1268 लोगों की रिपोर्ट आ गयी हैं। इनमे 235 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये है। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 1,52,813 लाख सर्विलांस टीम द्वारा 1,12,06,401 घरों के 5,70,58,376 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। अलर्ट जनरेट होने पर अब तक 96,281 लोगों को कन्ट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सर्विलांस का एक विशेष अभियान प्रारम्भ किया जा रहा है। इसके तहत 02 जुलाई से 12 जुलाई तक मेरठ मण्डल के समस्त जनपदों में सर्विलांस कार्य किया जायेगा। 05 जुलाई से 15 जुलाई तक बाकी 17 मण्डलों में इस अभियान को चलाया जायेगा। इस विशेष अभियान के अन्तर्गत सर्विलांस की टीम डोर-टू-डोर जाकर सभी लोगों के लक्षणों के बारे में जानकारी लेंगे तथा परिवार के सदस्यों में को-मोबिलिटी के बारे में भी जानकारी प्राप्त करेंगे। इस अभियान के दौरान सर्विलांस टीम द्वारा जिन घरों का सर्विलांस किया जायेगा। उन पर एस (ै) मार्क के साथ तिथि भी अंकित की जायेगी।
सम्पर्क: सूचना अधिकारी: जयेन्द्र सिंह/इंजेश सिंह/धर्मवीर खरे