ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन जनसेवा में पूरी तत्परता से तत्पर 
July 3, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश


वेब वार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 3 जुलाई। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के लिए 500 सीटों का एक काॅल सेन्टर पाँचवे तथा छाठवें तल, साइबर टाॅवर, विभूति खण्ड, गोमतीनगर, लखनऊ में निजी संस्था के माध्यम से स्थापित कर संचालित कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से उ0प्र0 के नागरिकों द्वारा टोल-फ्री-नम्बर 1076 पर काॅल कर अपनी शिकायत दर्ज कराई जाती है जिनका निस्तारण संबंधित विभागों द्वारा किया जाता है। इस काॅल सेन्टर को राज्य में संचालित अन्य काॅल सेन्टर्स जैसे यूपी-112, 102, 108 एवं 1912 से एकीकृत किया गया है।
             मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 का औपचारिक उद्घाटन 04 जुलाई, 2019 को मुख्यमंत्री द्वारा सम्पन्न किया गया था, जिसके पश्चात् हेल्पलाइन द्वारा सेवायें प्रदान करते हुए एक वर्ष की अवधि पूर्ण कर ली गयी है। विगत 01 वर्ष की अवधि में हेल्पलाइन द्वारा 21.33 लाख से अधिक शिकायतें पंजीकृत की गयीं, जिनमें से 20.47 लाख शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त हेल्पलाइन काॅल सेन्टर में 1.38 करोड़ से अधिक इनबाउण्ड काॅल्स प्राप्त हुई तथा 1.20 करोड़ से अधिक आउटबाउण्ड काॅल्स काॅल सेन्टर से की गई।
         कोविड-19 महामारी के इस समय में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन द्वारा वृहद रूप् से कोविड हेल्पलाइन के रूप् में कार्य किया जा रहा है। कोविड-19 से संबंधित इनबाउंड काॅल्स के लिए जनसुनवाई पोर्टल पर एक अलग डैशबोर्ड बनाया गया है तथा इसके संक्रमण के बारे में आम नागरिकों से इनबाउण्ड काॅल्स पर प्राप्त स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को आई.जी.आर.एस. में दर्ज कर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को प्रेषित किया जाता है। लाॅकडाउन संबंधी समस्याओं जैसे राशन एवं भोजन की उपलब्धता, आर्थिक सहायता, सेनिटाइजेशन आदि को निस्तारण हेतु जनपदों में स्थापित कन्ट्रोल रूम्स को अग्रसारित किया जाता है। हेल्पलाइन के माध्यम से कोविड-19 की रोकथाम के बारे में प्रचार-प्रसार कर आवश्यक कार्यवाहियां करने के लिए ग्राम प्रधानों, पार्षदों, आशा, बहुओं, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों आदि को आउटबाउण्ड काॅल्स करने का कार्य किया जा रहा है। साथ ही काॅल सेन्टर से प्रवासी श्रमिकों तथा राजस्थान राज्य के जनपद कोटा में पढ़ने वाले छात्र जो राज्य में वापस आये हैं, को आउटबाउण्ड काॅल्स कर उनसे संबंधित सूचनायें भी एकत्रित करने की कार्यवाही की जा रही है।
          कोविड-19 के समय में हेल्पलाइन से अब तक आउसटबाउंड काॅलिंग द्वारा प्रधानों को कुल 1,09,155, पार्षदों को कुल 8,540, आशा बहुओं को कुल 1,34,021, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को कुल 15,560, ग्राम पंचायत सचिवों को कुल 23,911, लेखपालों को कुल 12,389 निगरानी समितियों को कुल 50,647, स्किल मैपिंग हेतु श्रमिकों को कुल 74,221 तथा प्रवासी मजदूरों को कुल 2,00,429, काॅल्स की जा चुकी है।
           कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में भारत सरकार एवं राज्य सरकार की स्वास्थ्य एवं सोशल डिस्टेसिंग संबंधी एडवाइजरी के परिपालन में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन काॅल सेन्टर परिसर में निम्नानुसार कार्यवाहियां की गईं हैंः-
1. काॅल सेन्टर परिसर के भूतल प्रवेश द्वार पर दो सेनिटाइजेशन टनल स्थापित की गई, जिनका उपयोग कर प्रत्येक कर्मी को पूर्ण रूप से सेनिटाइजेशन उपरान्त ही प्रवेश दिया जाता है।
2. परिसर के पंचम एवं छठे तल पर रिसेप्शन एरिया में प्रत्येक कर्मी की थर्मल स्क्रकीनिंग उपरान्त उनके हाथों को सेनिटाइज करके ही प्रवेश दिया जाता है तथा यह चैक किया जाता है कि प्रत्येक ने मास्क पहना हो। इस हेतु प्रत्येक कर्मी को 2-2 मास्क भी बांटे गये हैं।
3. काॅल सेन्टर परिसर में कालिंग एरिया एवं अन्य स्थानों पर सेनिटाइजर की बोतलें भी उपलब्ध करायी गई हैं ताकि समय-समय पर अपने हाथों को सेनिटाइज कर सकें।
4. भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य संबंधित एडवाइजरी का अनुपालन करते हुए सोशल डिस्टैन्सिंग हेतु दो एक्जीक्यूटिव्ज़ के मध्य उचित दूरी बनाये रखने की व्यवस्था की गई है।
5. काॅल सेन्टर के समस्त नोटिस बोर्डों पर चिकित्सा संबंधी एडवाइज़री को प्रदर्शित करते हुए प्रचार-प्रसार की कार्यवाही की गई है।- अशोक कुमार
---------------------------------------------------