ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में 1 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने के लिए कार्य योजना बनाकर उसे क्रियान्वित करने के निर्देश - अवनीश कुमार अवस्थी
July 25, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 24 जुलाई।  उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना वायरस से एक कदम आगे का विजन रखा जाए। उन्होंने प्रदेश में 1 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने के लिए कार्ययोजना बनाकर उसे क्रियान्वित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा है कि 30 लाख से अधिक की आबादी वाले जनपदों में रैपिड एन्टीजन टेस्ट के द्वारा 2 हजार टेस्ट प्रतिदिन तथा इससे कम जनसंख्या वाले जिलों में कम से कम 1,000 टेस्ट प्रतिदिन रैपिड एन्टीजन टेस्ट विधि के माध्यम से किए जाएं। आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से प्रदेश में 35 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं।
       श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि जनपद लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर नगर, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर तथा बलिया में विशेष सतर्कता बरतते हुए डोर-टू-डोर सर्वे के माध्यम से मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य सघन रूप से किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में टेस्टिंग किट, दवाई, वेंटीलेटर तथा अन्य जरूरी सामग्री की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के लिए समय से सभी प्रक्रियाएं पूरी की जाएं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सर्विलांस टीम द्वारा प्रभावी ढंग से मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य किया जाए। उन्होंने इन टीमों को पूरी तरह सक्रिय रखते हुए कार्यों की माॅनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सर्वे गतिविधियों को मिशन मोड पर संचालित किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने कहा है कि जिला प्रशासन आवश्यकतानुसार निजी चिकित्सालयों को कोविड अस्पतालों में परिवर्तित करने के सम्बन्ध में जरूरी कदम उठाए। उन्होंने इस सम्बन्ध में समस्त कार्यवाही को समय से पूरा करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कन्टेनमेंट जोन में व्यवस्थाओं को सुचारु बनाए रखने के लिए एन0सी0सी0 के कैडेटों तथा सिविल डिफेंस के लोगों की सेवाएं भी प्राप्त की जाएं।
       श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोविड-19 तथा संचारी रोगों को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश में प्रत्येक सप्ताह विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान संचालित किया जा रहा है। आगामी शनिवार तथा रविवार को प्रदेश में संचालित होने वाले विशेष अभियान के तहत सेनिटाइजेशन, फाॅगिंग तथा स्वच्छता सम्बन्धी कार्यों को पूरी तत्परता से किया जाए। सभी नोडल अधिकारी इन कार्यों की प्रभावी माॅनिटरिंग करें। उन्होंने कहा है कि शनिवार तथा रविवार को साप्ताहिक बन्दी रहेगी। इसलिए लोग अनावश्यक अपने घरों से बाहर न निकले। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने बारिश के मौसम के दृष्टिगत संचारी रोगों की रोकथाम के लिए सभी प्रबन्ध करने के निर्देश भी दिए है। उन्होंने कहा है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रभावित जनता के लिए राहत सामग्री, चिकित्सा सुविधा के साथ-साथ पशुओं के लिए चारे आदि की व्यवस्था रहे।
      श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आज प्रदेश के 09,08,855 श्रमिकों/कामगारों को आर्थिक सहायता के दूसरे चरण में 90,88,00,000 रूपये आॅनलाइन हस्तांतरित किये। इस अवसर पर उन्होंने आपदा पूर्व चेतावनी तथा राहत प्रबन्धन हेतु वेब बेस्ड एप्लीेकेशन, ‘‘इन्टीग्रेटेड अर्ली वर्निंग सिस्टम‘‘ तथा ‘‘आनलाइन बाढ़ कार्य योजना माॅड्यूल‘‘ एवं ‘‘आपदा प्रहरी‘‘ ऐप का लोकार्पण किया।
     ‘ अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 50,697 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 17 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक लगभग 17,05,348 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि जनपदों में स्टैटिक बूथ बनाये जा रहे है जिनमें एन्टीजन टेस्ट की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है। प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 2712 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 21,711 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। अब तक 37,712 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 3147 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2879 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 268 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि पिछले 04 महीनों में 06 लाख टेस्ट व 24 जून से 24 जुलाई तक एक महीने में 11 लाख सैम्पल की कोविड-19 की  जांच की गयी। इस प्रकार प्रदेश ने अब तक कोविड जांच के 17 लाख के आंकड़ें को पार कर लिया है।
      श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 1,84,602 सर्विलांस टीम द्वारा 1,33,06,810 घरों के 6,77,18,244 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 56,164 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये है। इन कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से अब तक 69,633 लक्षणात्मक लोग मिले है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के समस्त जनपदों के सभी प्रमुख चिकित्सालयों पर कोविड जांच की सैम्पलिंग के लिए प्रतिदिन एक मोबाइल वैन भेजे जाने की व्यवस्था की गयी है। इस वैन को कोविड टेस्टिंग वैन का नाम दिया गया है। जिन अस्पतालों पर यह वैन जायेगी उन अस्पतालों का यह दायित्व होगा कि वहां भर्ती मरीजों की सैम्पलिंग कराकर उनकी कोविड की जांच करा ले। -जयेन्द्र सिंह/इंजेश सिंह/धर्मवीर खरे