ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
मुद्रा लोन, स्टार्टअप एवं स्टैण्डअप एवं अन्य योजनाओं में वितरित ऋण की मार्जिनमनी तत्काल अवमुक्त करें- डा0 नवनीत सहगल
March 20, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

- प्रदर्शन के आधार पर होगी विभागीय अधिकारियों/कर्मियों की पदोन्नति व स्थानान्तरण- सिद्धार्थ नाथ सिंह

- 31 मार्च तक शत-प्रतिशत लक्ष्यों हासिल किये जायं- एमएसएमई मंत्री  

- सिद्धार्थ नाथ सिंह द्वारा सभी विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों से ‘‘जनता कर्फ्यू’’ में सहयोग की अपील
वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 20 मार्च। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन, एनआरआई, खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, वस्त्र उद्योग तथा निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा जिन जनपदों में मार्जिनमनी/टूलकिट वितरण की प्रगति कम है, वहां अभियान चलाकर लक्ष्यों की प्राप्ति सुनिश्चित जाय। संयुक्त आयुक्त उद्योग स्तर के अधिकारियों को इन जनपदों में भेजा जाये और प्रतिदिन की प्रगति रिपोर्ट से उन्हें अवगत जाय। उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले समय में परफार्मेंस के आधार पर अधिकारियों/कर्मचारियों का प्रमोशन, ट्रांसफर और पोस्टिंग की जायेगी।
      श्री सिंह आज योजना भवन में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से एमएसएमई तथा खादी एवं ग्रामोद्योग विभागों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने रोजगार परक योजनाओं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, ओडीओपी एवं टूलकिट वितरण की विस्तार से समीक्षा की। साथ ही आगामी 31 मार्च तक शत-प्रतिशत लक्ष्यों की प्राप्ति के सख्त निर्देश भी जनपदीय अधिकारियों को दिए।
      मंत्री ने कहा कि पारदर्शिता और तत्परता की दृष्टि शीघ्र से सभी जनदीय कार्यालयों को पूर्णतया कम्प्यूटरीकृत किया जायेगा। संचालित सभी योजनाओं का क्रियान्वयन आॅनलाइन होगा। इससे जहां लोग आसानी से योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे, वहीं बैंक आॅनलाइन मार्जिनमनी का क्लेम भी कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम की कोई सीमा नहीं है। इसलिए अधिक से अधिक लोगों को इस योजना से लाभांवित किया जाय। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना वायरस की वजह से लघु उद्योग प्रभावित हो सकते हैं। ऐसी इकाइयों का मूल्यांकन कर उनकी सूची बनाई जाय और उनको हर सम्भव सहयोग प्रदान किया जाय। उन्होंने कहा कि 15 दिन बाद पुनः इन कार्यों की समीक्षा की जायेगी।
      श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने 22 मार्च को देशवासियों से  ‘जनता कफर््यू’ लागू करने का आह्वाहन किया है। जनपदीय अधिकारी इस मुहिम में जुड़े और प्रधानमंत्री जी की अपील का अनुपालन अपने-अपने कार्यालयों में सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव ही इसका इलाज है। कर्मी स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें। कई बार साबुन से 20 सेकेंड तक हाथ धुलें। कार्यालय में 01 मीटर की दूरी बनाये रखें। सेनेटाइजर का समय-समय पर प्रयोग करते रहें।
      प्रमुख सचिव, एम0एस0एम0ई0 डा0 नवनीत सहगल ने कहा कि समस्त अधिकारी मंत्री जी द्वारा दिये गये निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करें। उन्होंने वर्तमान वित्तीय वर्ष में व्यय की स्थिति एवं अगले वर्ष की कार्ययोजना की विस्तार से समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं ओ0डी0ओ0पी0 में क्वालीफाई करने वाले लोगों को इन योजनाओं का लाभ दिया जाय। मौजूदा वित्तीय वर्ष में स्वीकृत मुद्रा लोन, स्टार्टअप एवं स्टैण्डअप में वितरित ऋण की मार्जिनमनी तत्काल अवमुक्त की जाय। उन्होंने कहा कि फिसड्डी अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
      डा0 सहगल कहा कि सभी प्रकार की सरकारी खरीद जेम से होगी। राज्य सरकार इस बारे में बेहद गम्भीर है। उन्हांेने निर्देश दिए जिलों में कोई बड़ी खरीद जेम से अलग नहीं होनी चाहिए। आगामी वित्तीय वर्ष में प्रदेश के सभी सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम इकाईयों को जेम पर अपलोड कराया जायेगा। उन्होंने अधिकारियों को एमएसएमई की लिस्ट बनाने के निर्देश दिए।
      वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान विशेष सचिव राम चन्द्र यादव, अमित सिंह तथा प्रदीप तिवारी मौजूद थे। - अमित यादव