ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
कोविड-19 के अधिक से अधिक टेस्ट करने पर मुख्यमंत्री का सख्त निर्देश - नवनीत सहगल
November 22, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश



वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 22 नवंबर। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर अधिक से अधिक कोविड-19 टेस्ट कराने पर जोर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि अधिक से अधिक आर0टी0पी0सी0आर0, एन्टीजन तथा ट्रूनेट टेस्ट के द्वारा संक्रमण को पहचान कर उनका इलाज कराया जाय। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा इस समय आवश्यकता है कि मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग रखें तथा भीड़भाड़ से दूर रहें। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण बढ़ने से प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों में कोरोना संक्रमण के केस की बढ़ोत्तरी हुयी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सीमावर्ती जिलों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है तथा अस्पतालोें में सभी समुचित सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं तथा टेस्टिंग क्षमता बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि इस बात का ध्यान रखा जा रहा है कि दिल्ली की वजह से आस-पास के जनपदों में कोरोना का संक्रमण न फैले। दिल्ली से आने-जाने वाले लोगों के रेण्डम चेकिंग भी करायी जा रही है ताकि संक्रमण वाले व्यक्तियों की पहचान की जा सके तथा उनका ईलाज अस्पताल में कराया जा सके।
        श्री सहगल ने बताया कि आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है। रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए तथा आर्थिक गतिविधियां को और बढ़ाने के लिए सरकार के प्रोत्साहन से नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयां खुल रही है। सूक्ष्म, लघु, मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 8,18,279 इकाइयॉ क्रियाशील हैं, जिनमें  51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। पुरानी इकाइयों को कार्यशैली पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 10,854 करोड़ के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत कर वितरित किये जा रहे हैं। शीघ्र ही एक बड़ा ऋण मेला भी अगले सप्ताह आयोजित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसमें प्रयास किया जायेगा कि अधिक से अधिक लोगों स्वरोजगार के मामले में लोगों को बैंकों से ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि एमएसएमई इकाईयों और मेलों से ही लगभग 25 लाख लोगों को रोजगार मिला है। रोजगार के और अधिक अवसर पैदा हों विशेषकर छोटे और लघु उद्योगों के माध्यम से रोजगार के अवसर सृजित कर लोगों को नौकरी उपलब्ध करायी जायेगा। प्रदेश में रोजगार के नये अवसर उपलब्ध कराने के लिए 6.41 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 19,000 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त प्रदेश के राजकीय संगठनों में रोजगार के नये अवसर पैदा किये जा रहे हैं। सरकारी कार्यालयों में रिक्तियों को भरने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो गयी है। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह बाकी बचे लगभग 38 हजार शिक्षकों को नियुक्ति पत्र जारी कर दियेे जाएंगे। उन्होंने बताया कि गत दिनों मुख्यमंत्री ने शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किए थे।
       श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर किसानों से निरन्तर धान की खरीद की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 159.73 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है, जिसकी लागत लगभग 3 हजार करोड़ रूपए है जो पिछले वर्ष से डेढ़ गुना से भी अधिक है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 1,48,145.00 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। जो गत वर्षों से काफी अधिक है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र में मंूगफली के क्रय का कार्य भी तेजी से चल रहा है।
       श्री सहगल ने बताया कि आज जनपद सोनभद्र में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में प्रधानमंत्री ने 5,555 करोड़ रूपए की पेयजल योजनाओं का शिलान्यास किया है। उस क्षेत्र में अभी तक 800 गांवों में पाइप पेयजल की व्यवस्था थी। उन्होंने कहा कि यह विन्ध्य क्षेत्र के लिए बहुत बड़ा प्रोजक्ट है। यहां पहले पीने के पानी की बहुत किल्लत रहती थी। इस प्रोजक्ट से लगभग 42 लाख की जनसंख्या लाभान्वित होगी।
        प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,75,128 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,79,85,811 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि नवम्बर माह में पाॅजीटिविटी रेट 1.6 प्रतिशत है। सबसे अधिक पाॅजीटिविटी रेट वाले जनपद गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, गाजियाबाद, लखनऊ तथा वाराणसी हैं तथा नवम्बर माह में ही सबसे कम पाॅजीटिविटी रेट वाले जनपद आंबेडकरनगर, हाथरस, बलरामपुर, कानपुर देहात तथा श्रावस्ती हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2588 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 23,806 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। होम आइसोलेशन में 10,902 लोग हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2356 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 4,95,415 लोग कोविड-19 से ठीक होकर पूर्ण उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 3,00,658 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प लिया है जिनमें से 2,89,756 व्यक्ति होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर उपचारित होकर अपने घर जा चुके हैं। प्रदेश में कोविड-19 रिकवरी रेट 94.04 प्रतिशत हो गया है।
        श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,61,396 क्षेत्रों में 4,60,990 टीम दिवस के माध्यम से 2,91,71,612 घरों के 14,27,89,340 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि कल ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से 2719 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया। अब तक ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से 2,24,357 लोगों ने घर पर रहकर ही चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया।
       श्री प्रसाद ने बताया कि उत्तर प्रदेश में एक विशेष सुविधा द्वारा घर बैठे ही कोरोना जांच की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि डीजीएमपीयूपी की वेबसाइट पर अपना परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर ओटीपी आने पर ओटीपी डालने पर कोरोना टेस्टिंग का परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जांच और दवाओं की पूरी चिकित्सा व्यवस्था निःशुल्क है। अपने संक्रमण को छिपाए नहीं लक्षण दिखने पर तत्काल जांच कराएं। प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों में पोस्ट कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि बचाव से ही कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं तथा बीमार व्यक्तियों को संक्रमण से दूर रखकर कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बचाया जा सकता है।