ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
कोविड-19 : चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग की आरटीपीसीआर की शीघ्र ही नई लैब स्थापित हो रही - अवनीश अवस्थी
August 14, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश


वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 14 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के 01 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने के लिए सभी प्रयास सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में जनसंख्या के अनुपात में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या नियंत्रित है। टेस्टिंग क्षमता को निरन्तर बढ़ाये जाने का प्रयास किया जा रहा है। पिछले 2 महीने में टेस्टिंग क्षमता काफी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि 35,98,000 से अधिक टेस्ट करते हुए उत्तर प्रदेश अब देश में सर्वाधिक संख्या में टेस्ट करने वाला राज्य बन गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की आरटीपीसीआर की शीघ्र ही नई लैब स्थापित हो रही हैं। इनके स्थापित हो जाने से टेस्टिंग क्षमता में और अधिक वृद्धि हो जायेगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने टेस्टिंग गतिविधियों को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से क्रियाशील रखा जाए। सभी आवश्यक मेडिकल उपकरणों एवं मानव संसाधन की व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए एल-2 एवं एल-3 कोविड अस्पतालों के बेड्स बढ़ाए जाएं। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस सेवा को और सुदृढ़ किया जाये जिससे मरीज को ज्यादा इन्तजार न करना पड़े।
 श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा लखनऊ जनपद में स्थित अस्पतालों में बेड बढ़ाने की समीक्षा की गई। उन्होंने बताया कि वर्तमान में लखनऊ जनपद में 193 एचडीयू बेड्स तथा 190 आईसीयू बेड्स उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही इस माह के अन्त तक 320 एचडीयू तथा 125 आईसीयू के और बेड उपलब्ध हो जाएंगे। वर्तमान में उपलब्ध बेड एवं बढ़ाये जाने वाले बेड का विवरण निम्नानुसार है:- 
क्र0
सं0 अस्पताल का नाम सुविधा स्तर वर्तमान में उपलब्ध एचडीयू 
बेड एचडीयू बेड्स में वृद्धि (तिथिवार) वर्तमान में उपलब्ध आईसीयू बेड्स आईसीयू बेड्स में वृद्धि (तिथि सहित)
1. एस.जी.पी.जी.आई. एल 3 20 20 (18.08.2020) 68 12 (13.08.2020)
2. के.जी.एम.यू. एल 3 26 14 (13.08.2020)    11 (18.08.2020)
 60 20.08.2020 तक 320 बेड का नया ब्लाॅक बनने से 100 बेड की और बढ़ोत्तरी हो जायेगी।
3. आर.एम.एल. एल 3 00 20 (20.08.2020) 22 18 (15.08.2020)
4. एरा (प्रा0 मेडिकल काॅलेज) एल 3 60 20 (15.08.2020)
40 (20.09.2020) 20 10 (18.08.2020) 10 (30.08.2020)
5. मेदांता एल 3 00 20 (15.08.2020) 00 05 (15.08.2020)
6. अपोलो एल 3 00 40 (25.08.2020) 00 10 (25.08.2020)
7. सहारा एल 3 00 15 (25.08.2020) 00 10 (25.08.2020)
8. इन्टीग्रल एल 2 40 20 (20.08.2020) 10 (25.08.2020) १०  10 (15.08.2020)
10 (30.08.2020)
9. टीएमएम मेडिकल काॅलेज एल 2 10 10 (20.08.2020) 30 (30.08.2020) 05 05 (13.08.2020) 10 (20.08.2020)
10. हिन्द (सफेदाबाद) एल 2 30 30 (20.08.2020) 05 05 (20.08.2020)
11. लोक बन्धु हाॅस्पिटल एल 2 07 20 (20.08.2020) 00 10 (20.08.2020)
कुल योग- 193 320 190 125

 आईसीयू बेड एचडीयू बेड कुल बेड
उपलब्ध  190 193 383
वृद्धि 125 320 445
कुल योग- 315 513 828
 श्री अवस्थी ने बताया कि के0जी0एम0यू0 में 320 बेड के नया ब्लाॅक बनने से 100 आईसीयू बेड की और बढ़ोत्तरी हो जायेगी।
 श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर तथा बरेली में विशेष सतर्कता बरतते हुए चिकित्सा व्यवस्था को और बेहतर करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जनपद बरेली में 300 बेड्स का डेडिकेटेड कोविड अस्पताल शीघ्र क्रियाशील किया जाए। उन्होंने कोविड मरीज का त्वरित उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमित रोगी की स्थिति को देखते हुए उसका इलाज एल-1, एल-2 अथवा एल-3 कोविड चिकित्सालय में किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य प्रोटोकाल के साथ स्कूल-काॅलेजों में ही प्रतियोगी परीक्षाओं के केन्द्र बनाए जाएं। इन परीक्षाओं के संचालन में सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्ण पालन कराते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि अभ्यर्थी एवं परीक्षा कार्य से जुड़े सभी लोग मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें। उन्होंने परीक्षा केन्द्रों पर सेनिटाइजर की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में प्रभावित लोगों को समय से राहत सामग्री उपलब्ध हो। मकान के क्षतिग्रस्त होने पर मुआवजा दिया जाए। उन्होंने किसानों के लिए यूरिया की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं।
 अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 96,106 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 35 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक 35,98,210 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि कुल टेस्टिंग में उत्तर प्रदेश तमिलनाडु को पीछे छोड़ते हुए देश में प्रथम स्थान पर आ गया है। प्रतिदिन टेस्टिंग क्षमता में उत्तर प्रदेश पहले से ही देश में प्रथम स्थान पर है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के 4,600 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 50,426 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 23,961 मरीज होम आइसोलेशन, 1113 लोग प्राइवेट हास्पिटल में तथा 186 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में तथा इसके अतिरिक्त शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 के कोरोना अस्पतालों में है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 46,096 लोग होम आइसोलेशन में भेजे गये है जिसमें से 22,135 लोग होम आइसोलेशन की अवधि पूरी करते हुए पूरी तरह से स्वस्थ्य हो चुके है। प्रदेश में अब तक 92,526 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 2605 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2492 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 113 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। 
 श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस की कार्यवाही के अन्तर्गत 2,46,243 सर्विलांस टीम द्वारा 1,72,34,446 घरों के 8,67,39,334 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण से मृत्यु दर 1.6 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 20-40 आयुवर्ग के लोगों - अमित शुक्ला/इंजेश सिंह/जयेन्द्र सिंह