ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
कोरोना महामारी के कारण प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई- सुरेश खन्ना
August 8, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 8 अगस्त। उत्तर प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई हैं। उन्होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियों को अब धीरे-धीरे पटरी पर लाते हुए पूर्व की भांति पुनः गति प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि माह अप्रैल, मई और जून के सापेक्ष जुलाई में आर्थिक गतिविधियां काफी बेहतर हुई हैं। 
 श्री खन्ना ने बताया कि विभिन्न प्रकार के राज्य करों के अन्तर्गत जुलाई 2020 में संग्रहित कुल धनराशि पिछले वर्ष के माह जुलाई की राजस्व प्राप्ति की तुलना में 97.70 प्रतिशत है। इसके तहत जुलाई 2019 में 10926.36 करोड़ रूपए संग्रहित हुए थे। माह जुलाई 2020 में कुल राजस्व प्राप्ति 10675.42 करोड़ रूपए है। जीएसटी/वैट में जुलाई 2020 में 6024.16 करोड़ रूपए का राजस्व प्राप्त हुआ, जबकि इस मद में गत वर्ष इसी अवधि में 6564.88 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई थी। जुलाई 2020 में जीएसटी के रूप में 4120.62 करोड़ रूपए संग्रहित हुए। जिसमें एसजीएसटी 1799.81 करोड़ रूपए तथा आईजीएसटी 2320.81 करोड़ रूपए की धनराशि शामिल है। गत वर्ष जुलाई माह में एसजीएसटी में 1850.71 करोड़ रूपए तथा आईजीएसटी में 3011.87 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई थी। 
 श्री खन्ना ने बताया कि वैट के अन्तर्गत जुलाई 2020 में 1903.54 करोड़ रूपए की धनराशि संग्रहित हुई, जबकि गत वर्ष इस अवधि में वैट के अन्तर्गत 1702.30 करोड़ रूपए की धनराशि प्राप्त हुई थी। उन्होंने बताया कि वैट से प्राप्त राजस्व  माह जुलाई में गत वर्ष की तुलना में अधिक प्राप्त हुआ है। उन्होंने बताया कि आबकारी/स्टाम्प तथा निबंधन/परिवहन के अन्तर्गत जुलाई 2019 में 4214.27 करोड़ रूपए प्राप्त हुए थे, जबकि इस मद में वर्तमान वित्तीय वर्ष के माह जुलाई में 4472.72 करोड़ रूपए की राजस्व प्राप्ति हुई है, जो गत वर्ष की तुलना में अधिक है। उन्होंने बताया कि भूतत्व एवं खनिकर्म में गत वर्ष की अपेक्षा वर्तमान वित्तीय वर्ष के जुलाई माह में अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। जुलाई 2019 में इस मद में जहां 147.21 करोड़ रूपए की प्राप्ति हुई थी वहीं वर्तमान वित्तीय वर्ष के जुलाई माह में 178.54 करोड़ रूपए राजस्व के रूप में संग्रहित हुए हैं। 
 श्री खन्ना ने कोरोना जैसी विषम परिस्थिति में वित्तीय प्रबंधन को बेहतर बनाये रखने हेतु अपर मुख्य सचिव वित्त को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने इस सम्बंध में समय-समय पर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश के समस्त कर्मचारियों का वेतन एवं पेंशन बिना किसी कटौती के ससमय भुगतान किया गया एवं वर्तमान में भी प्रतिमाह किया जा रहा है।  
 श्री खन्ना ने बताया कि आगामी 20 अगस्त से उत्तर प्रदेश विधान सभा का सत्र प्रारम्भ हो रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी विषम परिस्थिति को देखते हुए यह सत्र छोटा होगा। सोशल डिस्टेंसिंग एवं फिजीकल डिस्टेंसिंग को देखते हुए लाॅबी, फस्र्ट फ्लोर एवं दर्शक दीर्घा का प्रयोग सदस्यों के बैठने के लिए किया जायेगा। दर्शक दीर्घा में दर्शकों को इस बार अनुमति नहीं दी जायेगी। इसके साथ ही पूर्व सांसदों एवं विधायकों को जारी परमानेंट पास सत्र के दौरान स्थगित रहेंगे। 
 श्री खन्ना ने बताया कि उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की टेस्टिंग 1 लाख प्रतिदिन के ऊपर की जा रही है। उन्होंने बताया कि कल प्रदेश में 1 लाख 2 हजार 982 टेस्ट किये गये। उन्होंने बताया कि टेस्टिंग कार्य में वृद्धि लाये जाने हेतु अगस्त माह के अंत तक 10 बीएसएल लैब और तैयार हो जाएंगी। कोरोना से मृत्यु दर उत्तर प्रदेश मे 1.75 प्रतिशत है जो कि राष्ट्रीय दर 2.04 प्रतिशत एवं अन्य राज्यों की तुलना में भी बहुत कम है। उन्होंने कहा कि सीएम ने समय समय पर निर्देश दिए हैं की बचाव और इलाज पक्ष को मजबूत किया जाए, किसी भी मरीज को ज्यादा देर एम्बुलेंस और इलाज का इंतजार ना करना पड़े। उन्होंने बताया कि प्रदेश में एल-2 और एल-3 बेड्स और बढ़ाए जा रहे हैं। उन्होंने सभी से अपील की है कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का प्रयोग अवश्य करें। उन्होंने कहा कि बिना मास्क के घर से बाहर न निकलें। 
 इस दौरान अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।-जयेन्द्र सिंह