ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
केशव मौर्य ने नगरिया खनूं लालपुर खादर के मध्य रामगंगा नदी सेतु आदि सुरक्षात्मक कार्य का किया शिलान्यास
June 9, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 9 जून। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज जनपद बदायूं के नगरिया खनूं लालपुर खादर के मध्य रामगंगा नदी सेतु ,पहुंच मार्ग, अतिरिक्त पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य का शिलान्यास किया। शिलान्यास कार्यक्रम का आयोजन लोक निर्माण विभाग मुख्यालय लखनऊ के तथागत सभागार में सम्पन्न किया गया।


      इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि रू0 4681.76 लाख की लागत से बनने वाले इस सेतु की लम्बाई 697.300 मी0 होगी। उपमुख्यमंत्री ने कहा इस सेतु के निर्माण से जनपद बदायूं के लगभग 50 गावों, जिनकी आबादी लगभग 2.50 लाख होगी, लाभान्वित होंगे और सेतु का निर्माण होने के उपरान्त स्थानीय निवासियों को लगभग 20 से 25 किमी0 की दूरी कम तय करनी होगी और उस क्षेत्र के बाजारों के विकास के साथ-साथ आवागमन सरल एवं सुलभ होगा तथा स्थानीय ग्रामीण को आवागमन में कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा।
      श्री मौर्य ने कहा कि रामगंगा नदी पर बनाये जाने वाला यह पुल बहुआयामी सिद्ध होगा, यहां पर पुल न होने के कारण स्थानीय निवासियों को नाव द्वारा नदी पार करनी पड़ती है और वर्षा ऋतु में बहुत ही असूविधा का सामना करना पड़ता है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इस सेतु को पूर्ण करने का लक्ष्य मार्च 2022 निर्धारित किया गया है, लेकिन उन्होने सेतु निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस सेतु को दिसम्बर 2021 तक अनिवार्य रूप से पूरा कर लिया जाय। उन्होने कहा कि कार्यों की टाइमलाईन निर्धारित करते हुये परियोजना का लगातार निरीक्षण किया जाय।
      उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा ( 06 मी0 से लेकर 60 मी0 तक) के लघु सेतु बनाये जाते हैं। इससे ज्यादा लम्बे पुल, सेतु निगम द्वारा बनाये जाते हैं। सेतु निगम द्वारा 266 पुलों का निर्माण किया जा रहा है। लोक निर्माण विभाग द्वारा 733 लघु सेतु स्वीकृत किये गये हैं, जिसमें से 104 पूर्ण हो गये हैं और 629 लघु सेतु निर्माणाधीन हैं।
      इस अवसर पर आंवला (बरेली) के सांसद धर्मेन्द्र कश्यप, दातागंज के विधायक राजीव कुमार सिंह, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण, विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग राजीव रतन सिंह, प्रबंध निदेशक उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम अरविंद श्रीवास्तव, प्रमुख अभियंता एस के श्रीवास्तव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।