ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
एसटीएफः अंतरप्रांतीय दूर्दान्त अपराधी 1,00,000/- का इनामी टिंकू उर्फ कपाला मुठभेड़ में ढेर
July 25, 2020 • AMIT VERMA • राष्ट्रीय

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 25 जुलाई। दिनाक-24-07-2020 को उत्तर प्रदेश के जनपद बाराबंकी के थाना सतरिख क्षेत्रान्तर्गत एस0टी0एफ0 टीम के साथ हुई साहसिक मुठभेड़ के दौरान विगत लगभग दो दशक से उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र आदि प्रान्तों में आतंक का पर्याय बने रू0 1,00,000/- का पुरस्कार घोषित कुख्यात दूर्दान्त अपराधी एच0एस0 नं0 307 ए टिंकू उर्फ कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा एस0टी0एफ0 के साथ हुई साहसिक पुलिस मुठभेड़ में घायल हो गया, जिसकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी। 
अभियुक्त का विवरणः-
टिंकू उर्फ कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा पुत्र तिलकराम श्रीवास्तव नि0 417/1276 दिलाराम बारादरी निवाजगंज, थाना चैक, जनपद लखनऊ।
बरामदगीः-
1- 01 अदद पिस्टल 9एमएम मय मैगजीन
2- 01 अदद पिस्टल 32 बोर मय मैगजीन
3- 05 अदद जिन्दा कारतूस 9एमएम
4- 12 अदद खोखा कारतूस विभिन्न बोर के 
5- एक अदद मोटरसाईकिल पैशन प्रो
मुठभेड़ का स्थान/दिनांकः-
जनपद बाराबंकी के थाना सतरखि क्षेत्रान्तर्गत, दिनांक 24-07-2020 समय 22ः45 बजे रात्रि में 
 विगत लगभग दो दशक से उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र आदि प्रान्तों में आतंक का पर्याय बने कुख्यात दूर्दान्त अपराधी एच0एस0 नं0 307 ए टिंकू कपाला उर्फ कमल किशोर  उर्फ  हेमन्त  कुमार  उर्फ  संजय  उर्फ  मामा  पुत्र तिलकराम श्रीवास्तव नि0 417/1276 दिलाराम बारादरी निवाजगंज, थाना चैक, जनपद लखनऊ के विरूद्ध डकैती, लूट एवं डकैती लूट के दौरान सनसनीखेज हत्याओं के अनेकों अभियोग पंजीकृत हुए। वर्ष 1998 में अपराध की दुनियां में कदम रखने वाला टिंकू कपाला अपने गैंग के अन्य मनबढ़ सदस्यों अविनाश त्रिपाठी (ए0टी0), दीपक उर्फ कोलम्बस, के0के0 उर्फ कमलकान्त, छोटू उर्फ बारूद आदि लगभग एक दर्जन सह अभियुक्तों के साथ अपने आपराधिक कृत्यों से आतंक का पर्याय बन गया था। उसकी आपराधिक घटनाओं की फेहरिस्त में वर्ष 2019 में राजधानी लखनऊ के थाना कृष्णानगर स्थित आर0के0 ज्वैलर्स की शाप में दिन दहाड़े डकैती की घटना को अंजाम देते हुए दो व्यक्तियों की निर्मम हत्या कर एवं दुकान के मालिक को गोली मार कर फरार हो गया, जिसमें उसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही थी परन्तु काफी समय से फरार रह कर यह अपराध में सलिप्त था, जिसकी गिरफ्तारी हेतु अपर पुलिस महानिदेशक, लखनऊ जोन, लखनऊ के पत्रांक संख्याः एलजेड-वाचक-01/19(पु0घो0अ0)/9780, दि0 22-07-2019 द्वारा रू0 1,00,000/- (रू0 एक लाख मात्र) का पुरस्कार घोषित किया गया था। इस अपराधी के विरूद्ध कार्यवाही हेतु एस0टी0एफ0 उ0प्र0, लखनऊ द्वारा लगभग 03 माह से सूचना संकलन का कार्य किया जा रहा था। 
 इस सम्बन्ध में पुलिस महानिरीक्षक एस0टी0एफ0 उ0प्र0 एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0, उ0प्र0 के द्वारा एस0टी0एफ0 की विभिन्न इकाईयों/टीमों को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में एसटीएफ मुख्यालय, लखनऊ द्वारा भी अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।
    अभिसूचना संकलन के दौरान मुखबिर के माध्यम से ज्ञात हुआ कि कुख्यात अपराधी टिंकू उर्फ कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा अपने साथियों के साथ मिलकर जनपद बाराबंकी में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए सक्रिय है। आज वह अपने साथी के साथ मोटरसाइकिल से सतरिख मार्ग से बाराबंकी जायेगा, जो घातक हथियारों से लैस है। 
मुखबिर से प्राप्त सूचना पर पुलिस उपाधीक्षक श्री प्रमेश कुमार शुक्ल के नेतृत्व में निरीक्षक श्री पंकज मिश्र, उपनिरीक्षक श्री शैलेन्द्र, उपानिरीक्षक श्री पंकज सिंह, मु0आ0 जोवद, मु0आ0 चन्द्र प्रकाश, आ0 मृत्युंजय सिंह व कमाण्डो नरेन्द्र बहादुर को दो टीमों में विभक्त कर मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुँच कर ड्रेगन लाइट व टार्चों के प्रकाश में बाराबंकी की तरफ जाने वाले दुपहिया वाहनों की सतर्कता पूर्वक चैकिंग की कार्यवाही की जाने लगी। इसी बीच रात्री करीब 22ः45 पर एक मोटरसाइकिल पर दो लोग आते दिखायी दिये जिन्हे रोकने का प्रयास किया गया तो मोटरसाकिल सवारों ने गति बढ़ाकर भागने की कोशिश की गयी तथा पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नीयत से फायर किया गया। पीछे बैठे मोटरसाइकिल सवार व्यक्ति की पहचान टिंकू कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा के रूप में हुई। मोटरसाइकिल सवारों ने प्रथम टीम को सामने देखकर पगडन्डी की ओर मोटरसाइकिल मोड़ दी परन्तु सन्तुलन खोकर मोटर साइकिल सहित फिसलकर वहीं गिर पड़े और पीछे बैठे टिंकू कपाला ने एस0टी0एफ0 टीम पर ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर दी। एस0टी0एफ0 कर्मियों द्वारा अदम्य साहस और शौर्य का परिचय देते हुये अपनी जान जोखिम में डालकर बदमाश को पकड़ने हेतु बदमाश के फायरिंग रेंज में होते हुये भी आत्मरक्षार्थ, नियत्रित एंव संन्तुलित फायर करते हुये बदमाश को दबोचने हेतु झपट पड़े। कुछ समय पश्चात बदमाशों की तरफ से फायर आना बन्द होने पर पास जाकर देखा गया तो एक बदमाश अचेत पड़ा हुआ था, जिसे तत्काल सदर अस्पताल, जनपद बाराबंकी भेजा गया जहाँ इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गयी। दूसरा बदमाश भागने में सफल रहा, जिसकी तलाश जनपदीय पुलिस द्वारा की जा रही है। मृतक की शिनाख्त टिंकू उर्फ कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा उपरोक्त के रूप में हुई। 
टिंकू उर्फ कपाला उर्फ कमल किशोर उर्फ हेमन्त कुमार उर्फ संजय उर्फ मामा का अब तक प्राप्त आपराधिक इतिहासः-
क्र0सं0 मु0अ0स0 धारा  थाना व जनपद
1 298/1998 395, 397, 412, आई0पी0सी0 थाना वजीरगंज जनपद लखनऊ
2 130/1998 392 आई0पी0सी0 थाना महानगर जनपद लखनऊ
3 779/1998 392, 411 आई0पी0सी0 थाना महानगर जनपद लखनऊ
4 868/1998 398, 120बी आई0पी0सी0 थाना महानगर जनपद लखनऊ
5 130/1998 392 आई0पी0सी0 थाना वजीरगंज जनपद लखनऊ
 6 259/1999 394 आई0पी0सी0 थाना वजीरगंज जनपद लखनऊ
7 275/1998 395, 397, 412 आई0पी0सी0 थाना तालकटोरा जनपद लखनऊ
8 368/1998 3/25 आम्र्स एक्ट  थाना तालकटोरा जनपद लखनऊ
9 389/1990  392 आई0पी0सी0  थाना महानगर जनपद लखनऊ
10 419/2003 392, 412 आई0पी0सी0 थाना नाका जनपद लखनऊ
11 123/2003 392, 412 आई0पी0सी0 थाना चैक जनपद लखनऊ
12 419/2003 392, 412 आई0पी0सी0 थाना नाका जनपद लखनऊ
13 123/2003 392, 412 आई0पी0सी0 थाना चैक जनपद लखनऊ
14 21/2004  392, 411 आई0पी0सी0 थाना चैक जनपद लखनऊ
15 70/2004 307 आई0पी0सी0 थाना चैक जनपद लखनऊ
16 74/2004 3/25 आम्र्स एक्ट  थाना चैक जनपद लखनऊ
17 540/2008 392 आई0पी0सी0 थाना गोसांईगंज जनपद लखनऊ
18 133/2014  394/34 आई0पी0सी0 थाना कोरेगांव जनपद पुणे महाराष्ट्र
19 538/2014 394/34 आई0पी0सी0 व 25 1/3 शस्त्र अधि0 थाना कोरेगांव, जनपद पुणे महाराष्ट्र
20 107/2015 307, 392, 114 आई0पी0सी0 135 जीटी एक्ट व 25/3 शस्त्र अधि0  थाना माजलपुर, बडोदरा, गुजरात
21 119/2019 396 आई0पी0सी0 थाना कृष्णानगर जनपद लखनऊ
22 540/2019 302/393/120बी/34 आई0पी0सी0 थाना गोमतीनगर, जनपद लखनऊ

 उपरोक्त के संबंध में थाना सतरिख, जनपद बाराबंकी में मु0अ0स0-168/2020 धारा-307 भादवि, व 3/25 आम्र्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत कराया गया है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।