ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
एसटीएफ : विकास दूबे का साथी 50 हजार का इनामी बाल गोविन्द दूबे उर्फ लालू गिरफ्तार
August 11, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
 चित्रकूट 11 अगस्त। दिनांकः 10-08-2020 को एसटीएफ, उ0प्र0 को थाना चैबेपुर जनपद कानपुर नगर में दिनांक 02/03-07-2020 की रात्रि में घटित लोमहर्षक हत्याकाण्ड के विरूद्ध पंजीकृत मु0अ0सं0 192/2020 धारा 147/148/149/302/307/395/120बी/412 भादवि व 7 सी0एल0ए0 एक्ट थाना चैबेपुर जनपद कानपुर नगर में वांछित मुख्य आरोपी विकास दूबे (मृत) का साथी रू0 50 हजार का इनामी/वांछित अपराधी बाल गोविन्द दूबे उर्फ लालू को गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।
अभियुक्त का विवरणः-
अपराधी बाल गोविंद दूबे उर्फ लालू पुत्र स्व0 मेवालाल, निवासी बिकरु, थाना चैबेपुर कानपुर नगर। 
घटनास्थल का दिनांक व स्थानः- 
दिनांक-10-08-2020 खोही से कर्वी जाने वाले मार्ग पर परिक्रमा मोड़ पर थानाक्षेत्र कोतवाली कर्वी, जनपद चित्रकूट। 
         जनपद कानपुर नगर के थाना चैबेपुर पर पंजीकृत मु0अ0सं0 191/2020 धारा 147, 148, 149, 504, 323, 364, 342, 307 भादवि व 07 सीएलए एक्ट मंे वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु दिनांक 2/3-07-2020 को जनपद कानपुर नगर के चैबैपुर थानान्तर्गत बिकरू गांव में तत्कालीन क्षेत्राधिकारी बिल्हौर श्री देवेन्द्र मिश्र के नेतृत्व में भय दोहन करने वाले हिस्ट्रीशीटर, गिरोहबन्द वांछित दुर्दान्त अपराधी विकास दुबे पुत्र राजकुमार दूबे निवासी बिकरू के घर दबिश देने हेतु पुलिस टीम गयी थी। कार्यवाही के दौरान पूर्व नियोजित योजना के अनुसार अपराधी विकास दूबे और उसके साथियों द्वारा मकान की छतों से मोर्चा लेकर पुलिस बल पर घात लगाकर ताबड़तोड फायरिंग की गयी जिसमें तत्कालीन क्षेत्राधिकारी बिल्हौर श्री देवेन्द्र मिश्र एवं उनके हमराह तीन उ0नि0 व चार आरक्षी शहीद हो गये थे तथा 06 पुलिसकर्मी घायल हो गये थे। अभियुक्तों द्वारा पुलिस टीम की एक ए0के0-47 रायफल व 01 अदद इन्सास रायफल, 01 अदद 9 डड ग्लाक पिस्टल व 02 अदद 09 डड  पिस्टल मय कारतूस लूट लिया गया था। इस सम्बन्ध में थाना चैबेपुर पर मु0अ0सं0 192/2020 धारा 147/148/149/302/307/395/120बी/412 भादवि व 7 सी0एल0ए0 एक्ट बनाम 1. विकास दूबे पुत्र रामकुमार दूबे व अमर दूबे पुत्र संजीव दूबे निवासी गण ग्राम बिकरू थाना चैबेपुर जिला कानपुर नगर सहित कुल 21 ज्ञात व 60-70 अज्ञात बदमाशो के विरुद्ध पंजीकृत हुआ था ।  
      इस दुर्दान्त अपराधी (मृतक विकास दूबे) के गिरोह के सदस्यों के विरूद्ध कार्यवाही एवं वांछितों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस महानिरीक्षक, एस0टी0एफ0,उ0प्र0 एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0, उ0प्र0 द्वारा एस0टी0एफ0 मुख्यालय एवं फील्ड इकाईयों में कई टीमे गठित कर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। जिस पर एसटीएफ टीमों द्वारा उक्त अपराधियों के सम्बन्ध में अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गई तथा अभिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।
       इसी क्रम में गठित टीमों द्वारा कानपुर नगर व आस पास के जनपदो एवं विभिन्न प्रान्तांे में इन अपराधियों की सरगरमी से तलाश की जा रही थी। इसी दौरान एसटीएफ, मुख्यालय से उ0नि0 श्री षिवनेत्र सिंह के नेतृत्व में उ0नि0 मनोज सिंह, मु0आ0 सुधीर कुमार सिंह, मु0आ0 राज कुमार शुक्ला, आरक्षी रमेश उपाध्याय, आरक्षी सत्यप्रकाष वर्मा, आरक्षी अमित कुमार की एक टीम गठित कर उक्त वांछित अपराधी के गिरफ्तारी हेतु रवाना किया गया था। दौराने कार्यवाही जरिये मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि उपरोक्त घटना में वांछित अभियुक्त व रू0 50 हजार के इनामी बाल गोविन्द दूबे उर्फ लालू चित्रकूट में भेषबदल कर रह रहा है, इस सूचना पर एसटीएफ टीम चित्रकूट पहुचकर जमीनी स्तर पर अभिसूचना संकलित कर अभियुक्त उपरोक्त को खोही से कर्वी जाने वाले मार्ग पर परिक्रमा मोड़ पर थानाक्षेत्र कोतवाली कर्वी, जनपद चित्रकूट से आवश्यक बल प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया गया।
      गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि मेरे दामाद विनीत शुक्ल पुत्र लल्लन शुक्ला निवासी ग्रा0 मोहनी निवादा थाना चैबेपुर, कानपुर नगर का राहुल तिवारी पुत्र रामबिलास तिवारी निवासी जादेपुर घस्सा थाना चैबेपुर कानपुर नगर से जमीनी विवाद है। राहुल तिवारी मेरे दामाद विनीत का सगा बहनोई है। राहुल तिवारी विनीत की बहन को 26.04.2020 को भगा ले गया था। राहुल तिवारी ने विनीत शुक्ल की भैंस को जबरन बेच लिया था, इसी बात पर तत्कालीन थानाध्यक्ष चैबेपुर विनय तिवारी, राहुल तिवारी को पकड़ कर मेरे घर पर पूछताछ के लिए लाए थे। मेरे घर पर उस समय मैं स्वयं, विकास दूबे, हीरू दूबे, शिवम दूबे बीडीसी, धीरू दूबे, शिवम दूबे, दलाल, अमर दूबे व प्रभात मिश्रा मौजूद थे। विकास दूबे ने थानाध्यक्ष चैबेपुर का मोबाइल जबरदस्ती उनसे छीन कर गली-गलौज कर बैठा दिया था तथा राहुल तिवारी के साथ सभी ने मारपीट किया तत्पश्चात थानाध्यक्ष चैबेपुर राहुल तिवारी को लेकर वापस चले गए थे, रात करीब 11 बजे विकास दूबे ने प्रभात मिश्रा के माध्यम से मुझे घर से बुलवाया था, जब मैं विकास दूबे के घर पहुचा तो वहां पर पहले से 50-60 आदमी मौजूद थे जिनके पास तमाम असलहे थे, विकास दूबे के कहने पर गोपाल सैनी ने मुझे देशी बम, पुलिस पर जानलेवा हमला करने के लिए लाकर दिया था एवमं विकास ने बताया था कि राहुल तिवारी ने चैबेपुर थाने में मुकदमा लिखवाया है पुलिस हम लोगों को पकड़ने आ रही है आज हम पुलिस वालों को जिंदा नही जाने देंगे। रात करीब 12.30 बजे पुलिस जब हमारे गांव में आई तो हम लोग पहले से छतों पर मौजूद थे, जैसे ही पुलिस ने रास्ते मे खड़ी जेसीबी पार की तो विकास दूबे ने चिल्ला कर कहा मारो सालों को इस पर सभी ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दिया था। मैंने भी पुलिस वालों पर जानलेवा हमला करते हुए 02 बम फेका था। पुलिस वालों को मारने के बाद विकास दूबे के कहने पर सभी लोग अलग अलग दिशाओं में भाग गए थे।
गिरफ्तार अभियुक्त को पंजीकृत मु0अ0सं0 192/2020 धारा 147/148/149/ 302/307/395/412/120बी भादवि व 7 सी0एल0ए0 एक्ट थाना चैबेपुर, जनपद कानपुर नगर में दाखिल कराया गया है। अग्रिम वैधानिक कार्यवाही विवेचक/स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।