ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
डीएम ने कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्देश दिए
August 6, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश



- कोरोना मरीजों की तिमारदारी व देखभाल में न रहे कोई कमी, प्रोटोकाल व नियमों का उल्लघंन करने पर एफआईआर दर्ज कराने में न करे कोई गुरेज: शुभ्रा सक्सेना

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा/एस के सोनी
रायबरेली 06 अगस्त। जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन में अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि एल-1 व एल-2 अस्पतालों में सुविधाओं को और अधिक बेहतर बनाये साथ सभी कोविड अस्पतालों में वेन्टीलेटर की सुविधा पूरी तरह से दुरूस्त रहे। वेन्टीलेटर ठीक से कार्य करे कही किसी भी प्रकार वेन्टीलेटर में कोई दिक्कत हो या वेन्टीलेटर कार्य कर न रहा हो उसे तत्काल बदलवादे या ठीक कराये। उन्होंने कहा कोविड अस्पतालों में, होम क्वारनटाइन में रह रहे मरीजों से निरन्तर संवाद रहे उन्हें किसी भी प्रकार की खान-पान आदि में कोई दिक्कत न हो। मरीजों जलपान, खाना आदि दिया जाये व उच्च स्तरीय गुणवत्ता युक्त रहे।जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये सभी प्रभारी अधिकारी नोडल अधिकारी अपने कार्यो को टीम भावना से युद्ध स्तर पर करे। स्वास्थ्य प्रोटोकाल का जानबुझकर का उल्लघंन करे तोे ऐसे लापरवाह गैर जिम्मेदार मरीज या अन्य कोई जिसे अपनी व दूसरों की कोई चिन्ता नही है पुनः समझाये न मानने पर कोरोना आपदा प्रबन्धन एक्ट के तहत प्रथम सूचना रिर्पोट दर्ज करा दण्डात्मक कार्यवाही में भी कोई गुरेज न करें। कोरोना टेस्ट व एन्टीजेन टेस्ट की संख्या में बढ़ोत्तरी लाये। उन्होंने कहा अधिकारी जो भी रिर्पोट दे वह ठीक हो गलती की गुंजाइस न रहे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कलेक्ट्रेट द्वारा जारी कोरोना अपील को जनसामान्य में वितरित कर उन्हें जागरूक करें। जिलाधिकारी ने आमजनमानस से अपील की है कि घर से बाहर निकलना अनिवार्य न हो, न निकलें। घर से बाहर निकलने पर मास्क अवश्य लगाए व सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखें।