ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
दक्षिणी जोन के सभी थानेदार क्षेत्र में जनसहयोग से सीसीटीवी कैमरे लगवाए - सुरेश चंद्र रावत, एडीसीपी
July 8, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा

लखनऊ 8 जुलाई। क्षेत्र में अपराध को रोकने व अपराधियों की जानकारी शीघ्र प्राप्त कर कार्यवाही करने हेतु अपर पुलिस उपायुक्त यातायात एवं दक्षिणी लखनऊ सुरेश चंद्र रावत ने बड़ा और प्रभावी कदम उठाया हैl उन्होंने अपने क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे लगवाने का बड़ा फैसला लिया है l उनके ऐसे ही कार्योँ के कारन उन्हें एक कर्मठ और ईमानदार अधिकारीयों में गिना जाता है l          

                                                                                                              अपर पुलिस उपायुक्त यातायात एवं दक्षिणी लखनऊ सुरेश चंद्र रावत ने बताया की उन्होंने क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे लगवाने की दिशा में लखनऊ कमिश्नरेट के दक्षिणी जोन के थाना मोहनलालगंज, गोसाईगंज, नगराम, सुशांत गोल्फ सिटी, पारा व काकोरी के प्रभारी निरीक्षकों व सभी हल्का चौकी प्रभारियों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वह यह सुनिश्चित करें कि उनके क्षेत्र में उपरोक्त संख्या में अंकित स्थलों पर 4-4 कैमरे जनता के सहयोग से लगवाए जाएं l इन कैमरों मैं से दो कैमरे का फोकस मुख्य मार्ग की तरफ होना चाहिए l दक्षिणी जोन के समस्त थानों में कुल 1240 स्थलों पर 4-4 कैमरे अर्थात  कुल लगभग 5000 कैमरे 31 अगस्त 2020 तक लगवाए जाने का लक्ष्य समस्त चौकी प्रभारियों वह हल्का प्रभारियों को दिया गया है l प्रमुख चौराहों पर स्मार्ट सिटी के द्वारा कैमरे लगाए जा रहे हैं, लेकिन गलियों और छोटे चौराहों पर और ग्रामीण क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरो का अभाव है l  इसके लिए जनता के संभ्रांत व्यक्तियों से समन्वय स्थापित करते हुए अधिक से अधिक भागीदारी किए जाने का अनुरोध करें l                                                                                                                 अपर पुलिस उपायुक्त यातायात एवं दक्षिणी लखनऊ सुरेश चंद्र रावत  द्वारा  सभी चौकी /हल्का प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि वह बड़े दुकानदारों, ढाबा संचालकों, विद्यालय संचालकों, शस्त्र धारकों, अधिक कैश का लेनदेन करने वाले दुकानदारों, रियल स्टेट के कार्यालयों के बाहर, अस्पताल , नर्सिंग होम, मेडिकल स्टोर व सड़क के किनारे बने हुए बड़े मकानों इत्यादि से समन्वय स्थापित करते हुए अपने-अपने चौकी/ हल्के क्षेत्र में कैमरा लगवाए जाने हेतु दिए गए लक्ष्य की प्राप्ति करें l सभी पॉली गन मोबाइल पर नियुक्त आरक्षी भी अपने क्षेत्र में घूम घूम कर संभावित घटना वाले स्थलों के आसपास के घरों में व दुकानों मैं कैमरे लगाए जाने हेतु लोगों को प्रेरित करें l 12 से 15 हजार की लागत में एक लोकेशन पर चार कैमरे लगाए जा सकते हैं l