ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
छात्र डिजिटल कक्षाओं के माध्यम से उपलब्ध करायी गयी प्रशिक्षण सुविधा से अधिक से अधिक लाभ उठाये -. श्री कपिल देव अग्रवाल
April 24, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 24 अप्रैल। प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत कोरोना संक्रमण से छात्रों व प्रशिक्षणार्थियों को अपनी तथा अपने परिवार की सुरक्षा करने के उपायों से अवगत कराने के लिए तथा प्रशिक्षित युवाओं की सेवायें कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु उत्तर प्रदेश सरकार को उपलब्ध कराने के लिए मा0 व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री कपिल देव अग्रवाल द्वारा आज प्रदेश के समस्त मण्डलों के संयुक्त निदेशक (प्रशि0/शिक्षु0), जनपदों के प्रधानाचार्य आईटीआई व जिला प्रबन्धक, उ.प्र. कौशल विकास मिशन से वेबिनॉर के माध्यम से वार्ता की गयी।
श्री कपिल देव अग्रवाल ने समस्त अधिकारियों को लॉकडाउन का पूर्णतः अनुपालन करने तथा आरोग्य सेतु एप को अपने मोबाईल फोन पर अवश्य डाउनलोड करने हेतु निर्देश दिये गये। साथ ही यह भी अवगत कराया गया कि अपना मोबाईल फोन का ब्लूटूथ ऑन रखें ताकि आस-पास का कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर उसकी जानकारी हो सके।  उन्होंने बताया है कि कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए मास्क तथा सेनिटाईजर का अनिवार्य रूप से उपयोग करने तथा सामाजिक दूरी का नियमित रूप से पालन करने हेतु भी सचेत किया गया। इसके अतिरिक्त प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी द्वारा कम से कम 5 व्यक्तियों को आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित करने के भी निर्देश दिये गये।
समीक्षा के दौरान मंत्री जी को बताया गया कि व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग द्वारा अबतक 1,56,822 व्यक्तियों के मोबाईल पर आरोग्य सेतु एप को इंस्टाल कराया जा चुका है तथा प्रतिदिन 10 से 11 हजार व्यक्तियों को आरोग्य सेतु एप इंस्टाल करने हेतु प्रोत्साहित कराया जा रहा है। वीडियो कांफ्रेन्स के दौरान यह भी बताया गया कि विभागीय अधिकारियों द्वारा अब तक 10,486 अपील सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित की गयी हैं।  अब तक लगभग 33,000 वर्चुअल क्लासेज चलाई जा चुकी हैं जिनके माध्यम से 3,62,000 से अधिक छात्रोंध्प्रशिक्षणार्थियों को नियमित प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।
श्री अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आईटीआई तथा उ.प्र. कौशल विकास मिशन द्वारा प्रशिक्षित युवाओं का फेस मास्क, पीपीई किट, हाथों के दस्ताने व सेनिटाईजार आदि के उत्पादन में उपयोग  मंे लिया जा सकता है। इसके अतिरिक्त हेल्थकेयर तथा नर्सिंग ट्रेड्स में प्रशिक्षित युवाओं से जनपदों में पैरामेडिकल सेवायें भी उपलब्ध करायी जाएं।
श्री अग्रवाल द्वारा उ.प्र. कौशल विकास मिशन के अन्तर्गत फ्यूचर शार्प (बिग बाजार समूह) द्वारा चलायी जा रही वर्चुअल कक्षाओं में प्रशिक्षकों व प्रशिक्षणार्थियों से वार्ता की गयी तथा उन्हें भी आरोग्य सेतु इंस्टाल करने, सामाजिक दूरी का पालन करने तथा अपने आस-पास सफाई रखने इत्यादि सम्बन्धी आवश्यक सावधानियों से अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त छात्रों से डिजिटल कक्षाओं के माध्यम से उपलब्ध करायी गयी प्रशिक्षण सुविधा से अधिक से अधिक लाभ उठाने का भी आग्रह किया गया ताकि उनके स्वास्थ्य के साथ-साथ उनका भविष्य भी सुरक्षित हो सके और लॉकडाउन की अवधि का सदुपयोग हो सके। उन्होंने छात्रों से भी डिजिटल कक्षाओं की उपयोगिता व गुणवत्ता के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी तथा प्रशिक्षणार्थियों द्वारा आनलाईन कक्षाओं के माध्यम से प्रशिक्षण को उपयोगी बताया गया।- इंजेश/धर्मवीर खरे