ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टाॅलरेंस नीति पर मुख्यमंत्री के निर्देश का अनुपालन हो - अवनीश कुमार अवस्थी   
November 20, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश


वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 20 नवंबर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नें भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टाॅलरेंस तथा प्रदेश में कानून व्यवस्था एवं अपराध स्थिति में और अधिक सुधार लाने के प्रयासों में और तेजी लाने के निर्देश दिये है।
      मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में अपर मुख्य सचिव, गृह की अध्यक्षता में आज लोक भवन स्थित कमाण्ड सेण्टर में उच्च स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया जिसमें सतर्कता विभाग एवं सतर्कता अधिष्ठान के स्तर पर लम्बित जांच आख्या सम्बन्धी कार्यवाही की गहन समीक्षा की गयी। बैठक में बताया गया कि सतर्कता विभाग मे 70 निर्णय हेतु विचाराधीन प्रकरणों में से 12 का निस्तारण किया जा चुका है। श्री अवस्थी ने विचाराधीन 13 मामलों के सम्बन्ध में 8 प्रशासकीय विभागों यथा- चिकित्सा शिक्षा, नगर विकास, कृषि, अल्पसंख्यक, राजस्व, ऊर्जा, वित्त, सूचना विभाग द्वारा प्रत्येक दशा में आगामी 15 दिसम्बर तक विभागीय अभिमत सतर्कता विभाग को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रशासकीय विभागों के अभिमत प्राप्त हो जाने के फलस्वरूप सभी प्रकरणों का निस्तारण यथाशीघ्र सुनिश्चित कराया जाय। साथ ही शेष प्रकरणों का निस्तारण भी  शीघ्र कराया जाय।
       अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में सतर्कता विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही की समीक्षा करते हुये कहा कि अधिष्ठान स्तर पर प्रचलित 426 जांच आख्या के सम्बन्ध में प्रकरणों का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर अभियान चलाकर शीघ्रता से किया जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिये हैं कि सतर्कता जाॅच सम्बन्धी लम्बित मामलों की अनुभागवार सूची तैयार कर सतर्कता अधिष्ठान से समन्वय बनाते हुये चल रही कार्यवाही में तेजी लाई जाये तथा आगामी बैठक में अद्यतन प्रगति से अवगत कराया जाय। उन्होंने यह निर्देश भी दिये कि प्रत्येक सतर्कता अनुभाग आख्या हेतु अपने सभी प्रकरणों हेतु समेकित रूप से एक ही पत्र के माध्यम से कार्यवाही सुनिश्चित करे। जिन मामलों में सम्बन्धित प्रशासकीय विभागों से शीघ्र कार्यवाही की अपेक्षा हो उसके लिए शासन स्तर से भी विशेष प्रयास किये जाये। उन्होंने कहा कि प्रकरणों के शीघ्र निस्तारण हेतु निदेशक सतर्कता के साथ बैठक करके कार्यवाही में गति लायी जाय।
       बैठक में पुलिस महानिदेशक, सतर्कता, पी0बी0 रामाशास्त्री के अलावा गृह विभाग के विशेष सचिव आर0पी0 सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।