ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
अपराधियों व भ्रष्टाचारियों का साथ क्यों नहीं छोड़ पा रहे अखिलेश?- हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव
March 20, 2020 • AMIT VERMA

- सपा मुखिया अखिलेश यादव को लगा है भ्रष्टाचार के वायरस का रोग
वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 20 मार्च। भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि सपा मुखिया अखिलेश यादव को योगी सरकार के काम नहीं दिख रहे हैं। क्योंकि उनकी डिक्शनरी में विकास की परिभाषा घोटाला, भ्रष्टाचार और अपराध में नंबर वन बना रहना होता है। आज कोरोना वायरस पर प्रवचन दे रहे अखिलेश यादव स्वयं ही ऐसे वायरस से रोगग्रस्त हैं, जिसका नाम है भ्रष्टाचार वायरस है। इसलिए उन्हें राज्य की योगी सरकार के विकास कार्य और भ्रष्टाचार मुक्त शासन की उपलब्धियां नहीं दिखती हैं। अखिलेश जी को कोरोना से बचाव के साथ ही भ्रष्टाचार के वायरस के रोग से मुक्ति के लिये आत्मसंयम बरतना चाहिये।
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि इससे बड़ी बेशर्मी क्या होगी कि जिन अखिलेश के राज में उत्तर प्रदेश की पहचान गुंडाराज और भ्रष्टाचार से होती थी, जिनके शासन में ट्रांसफर-पोस्टिंग का सरकारी धंधा चलता था, जिन्होंने थानों व जिला मुख्यालयों को जाति व धर्म विशेष का अड्डा बनाकर लूटतंत्र को स्थापित किया था, वे योगी आदित्यनाथ की ऐसी सरकार पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं, जिसने तीन साल में प्रदेश को विकसित राज्यों की पांत में लाकर खड़ा कर दिया है।
उन्होंने सवाल उठाया कि अखिलेश यादव की ऐसी क्या मजबूरी है कि वे अपराधियों, गुंडों और असामाजिक तत्वों के साथ आज भी खुलकर खड़े रहते हैं? आजम खान के पास अखिलेश का ऐसा कौन सा राज है, कि आपराधिक कृत्यों व भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे हुये आजम खान को बचाने के लिये आज भी वे विलाप करते हैं? आखिर आजम खान के अपराधों व भ्रष्टाचार में अखिलेश यादव की इतनी शह क्यों है? कहीं ऐसा तो नहीं कि आजम खान की भ्रष्टाचार की दुनिया में अखिलेश यादव का बड़ा हिस्सा है? 
श्रीवास्तव ने कहा कि अखिलेश को कोरी बयानबाजी के बजाय थोड़ा अध्ययन करना चाहिए और समाचार भी पढ़ने चाहिये। योगी सरकार के निवेश सम्मेलन में साढ़े चार लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव भी आये और इनमें से ढाई लाख करोड़ के प्रस्तावों का शिलान्यास भी किया जा चुका है। प्रदेश में योगी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे गंगा एक्सप्रेस-वे सहित बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर एक्सप्रेस लिंक-वे आदि पर काम शुरू हो चुका है। किसान सम्मान निधि और गन्ना किसान भुगतान के मामले में उत्तर प्रदेश सबसे आगे जाकर किसानों का जीवन खुशहाल बना रहा है। डिफेंस कोरीडोर सहित ऐसी दर्जनों परियोजनाएं शुरू की गयी हैं, जो प्रदेश की तकदीर बदल देंगी। 
श्रीवास्तव ने कहा कि आज प्रदेश योगी जी के नेतृत्व में एक ऐसी संवेदनशील सरकार है, जो प्रदेश के लोगों की चिंता करते हुए प्रदेश के 45 जनपदों में मेडिकल कॉलेज बनवा रही है और प्रदेश के सभी जनपदों में मेडिकल कॉलेज खोलने की दिशा में काम कर रही है। यह योगी सरकार की संवेदनशीलता का ही परिणाम है कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिये राज्य सरकार ने न केवल युद्धस्तर पर तत्पर कदम उठाये हैं, बल्कि इस महामारी से बचाव के लिये काम पर ना जा सकने वाले दिहाड़ी मजदूरों व जरूरतमंदों के परिवार की दैनिक आवश्यकता की पूर्ति के लिये धन देने की घोषणा थी की है।