ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंदी मदरसों के प्रतिनिधियों के साथ संवाद किया 
February 8, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 08 फरवरी। आज लखनऊ में उत्तरप्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता "नन्दी" ने  प्रदेश भर के कई जिलों से आए मदरसों के प्रतिनिधियों के साथ संवाद कार्यकम में सम्मिलत हुए  जहां उर्दू, अरबी, फारसी के उस्ताद व अध्यापकगण उपस्थिति रहे, सभी प्रतिनिधिमंडल अपने समस्याओं को कबिना मंत्री के सामने पेश किए ।।
1 - प्रधानाचार्य एवं आलिया स्तर के शिक्षकों के वेतन ग्रेड में विसंगति
2- मदरसा सेवा नियमावली में अनुशासनात्मक कार्यवाही को जोड़ा जाना
3- मदरसा आधुनिकीकरण के शिक्षकों के बकाया मानदेय दिलाने का विषय 
4 - सुपर सलेक्शन ग्रेड का 20 प्रतिशत कोटा समाप्त कर, सभी को दिया जाए 
सारी समस्याओं के निस्तारण के लिए मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निस्तारण के निर्देश दिए और साथ ही साथ अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की उलब्धियां बताई उन्होंने कहा कि पिछले 6 वर्षो से आदरणीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में है लगभग पिछले 3 वर्षों से उत्तर प्रदेश में यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में सरकार है हमारी पार्टी और हमारी विचारधारा भारत के मूल स्वभाव के अनुकूल है जो सबको साथ लेकर आगे बढ़ने और देश के विकास में सभी की भागीदारी सुनिश्चित हो, इसी सिद्धांत पर आधारित है वर्तमान सरकार सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास इसी मूल मंत्र के साथ काम कर रही है माननीय  प्रधानमंत्री जी के विजन एक हाथ में कुरान तथा एक हाथ में कंप्यूटर इसी सोच के साथ हमारी सरकार निरंतर मदरसा शिक्षा के उन्नयन को लेकर प्रयासरत है, सरकार अपनी कार्यप्रणाली मैं पारदर्शिता तथा अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति के कल्याण को लेकर पूर्णत: सजग है तथा इस ओर निरंतर युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है, मदरसा पोर्टल की स्थापना के माध्यम से परिषद की मुंशी/मौलवी आलिम/कामिल एवं फाजिल स्तर की परीक्षाएं सफलतापूर्वक संपन्न कराई जा रहे हैं, मंत्री ने बताया कि वर्ष 2019-20 में संपन्न मदरसा परीक्षा में वैकल्पिक विषयों के प्रश्न पत्र हिंदी अंग्रेजी तथा उर्दू तीनों भाषाओं में मुद्रित कराए जा रहे हैं, मदरसों में वैकल्पिक विषयों की शिक्षा का माध्यम हिंदी अंग्रेजी तथा उर्दू किया गया है, मदरसों के छात्रों को एनसीसी,स्काउट गाइड तथा राष्ट्रीय सेवा योजना से भी जुड़े जाने का निर्णय लिया गया है, मदरसों में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम लागू किया जाना तथा मदरसों के शिक्षकों एवं बच्चों को मैथ की वेब आधारित शिवा एवं प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाना इस सरकार के महत्वपूर्ण कदम है हमारी सरकार अल्पसंख्यक बच्चों की शिक्षा के लिए प्रत्येक वर्ष लगभग 13 लाख से अधिक बच्चों को छात्रवृत्ति प्रदान कर रही है, सरकार ने अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में सैकड़ों राजकीय इंटर कॉलेज, कई राजकीय डिग्री कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज और आईटीआई कॉलेज खोले जा रहे हैं जिससे अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का सर्वांगीण विकास संभव हो सकेगा हमारी सरकार देश के यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय नरेंद्र मोदी जी और प्रदेश के मुखिया माननीय योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में अल्पसंख्यक समुदाय के लिए हितार्थ निरंतर प्रयास कर रही है।
इस दौरान अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनोज सिंह जी उपस्थित रहे एवम् संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे और लखनऊ से मौलाना  अब्दुल वली, सैफी यूनुस बाराबंकी से मोहम्मद इसराइल, हसीब अहमद कानपुर से अब्दुल कादिर खान ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।