ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य बिजनेस खेल सिनेमा रोजगार धर्म मेट्रोमोनियल
23 करोड़ जनता का हित मेरी प्राथमिकता - योगी आदित्यनाथ
April 4, 2020 • AMIT VERMA • उत्तर प्रदेश

- कोरोना वायरस को लेकर सीएम आवास पर हुई बैठक

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 5 अप्रैल। कोरोना वायरस को लेकर सीएम आवास पर मुख्यमंत्री प्रतिदिन बैठक ले रहे हैं।
       बैठक में यूपी में तबलीगी जमात के लोगों पर हुई कार्रवाई व चिन्हित किए गए 12 सौ से अधिक लोगों के बारे में सीएम योगी ने जानकारी ली।
यूपी के जिन जिन जिलों में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ी है, वहां का भी अपडेट लिया सीएम योगी ने। लॉक डाउन का कितना सख्ती से पालन हो रहा है, कहां-कहां कितने लोगों पर कार्रवाई हुई इस सबकी समीक्षा किया सीएम योगी ने।
यूपी में कालाबाजारी करने वालों पर हो रही कार्रवाई के बारे में भी जानकारी ली सीएम ने।
 स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों पर भी सीएम ने विस्तार से समीक्षा की।
 तबलीगी समाज के लोगों पर हो रही रासुका की कार्रवाई का भी पूरी जानकारी सीएम योगी ने ली।
      बैठक में मुख्य सचिव के साथ अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी, प्रमुख सचिव चिकित्सा व स्वास्थ्य के साथ प्रमुख सचिव नगर विकास, प्रमुख सचिव लोक निर्माण समेत दो दर्जन बड़े अधिकारी बैठक में रहे शामिल।

बैठक में योगी का महाभियान :
उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता के लिए बनाए जाएंगे 66 करोड़ खादी के ट्रिपल लेयर स्पेशल मास्क। यूपी सरकार बनवाएगी स्पे़शल मास्क जिसमें ग़रीबों को फ़्री मिलेगा और बाक़ी लोगों को बेहद सस्ता। मास्क कपड़े का रीयूज वाला वाशेबुल होगा।

प्रदेश के हर नागरिक को मिलेंगे दो दो मास्क।

यदि लाकडाउन समाप्त होता है तो एपेडमिक एक्ट के तहत सबको पहनना ही होगा मास्क। बिना मास्क के घर के बाहर निकलने की बिल्कुल भी अनुमति नहीं होगी।

योगी आदित्यनाथ ने ज़िलाधिकारियों सख्त हिदायत दी :

सीएम हेल्प लाइन के फ़ोन पर नहीं सुनना चाहता कि अभी भोजन नहीं पहुँचा है। यदि भोजन पहुँचने में विलंब हुआ तो सीधे ज़िलाधिकारियों की सीधे जवाबदेही तय करूँगा।
सुबह 10 से 2 पहुँचे - दोपहर का खाना
शाम 6 बजे से 8 तक पहुँचे रात का खाना...

सीएम ने कहा कि - हेल्पलाइन के नंबरों को रोज कर रहा हूं समीक्षा। जिस ज़िले से ज़्यादा लोगों के फ़ोन मदद के लिए आ रहे हैं, उन ज़िलाधिकारियों के बारे में लाक डाउन के बाद लूँगा फ़ैसला।

23 करोड़ जनता का हित मेरी प्राथमिकता...

ज़िलाधिकारी की ज़िम्मेदारी कोई भूखा ना रहे, बिना भेदभाव के सब तक पहुँचे भोजन, राशन।